संदेश

आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में 167 लोगों के विरूद्ध एफ0आई0आर0 दर्ज

चित्र
उत्तर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी  ने बताया कि विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 के परिप्रेक्ष्य में प्रदेश भर में लागू आदर्श आचार संहिता को सुनिश्चित कराने के लिये सार्वजनिक एवं निजी स्थानों से अब तक कुल 44,80,204 प्रचार-प्रसार सामग्री हटायी गयी है, जिसमें से सार्वजनिक स्थानों से 33,19,558 एवं निजी स्थानों से 11,60,646 प्रचार-प्रसार सामग्री हटायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि विगत 24 घंटों में सार्वजनिक स्थानों से कुल 1,71,380 तथा निजी स्थानों से 56,251 प्रचार सामग्री हटाई गयी है।  सार्वजनिक स्थानों से वाल राइटिंग के 11,732 पोस्टर के 71,619 बैनर के 61,498 तथा 26,531 अन्य मामलों में कार्रवाई की गयी है। इसी प्रकार निजी स्थलों से वाल राइटिंग के 5,334 पोस्टर के 25,011 बैनर के 17,209 तथा 8,697 अन्य मामलों में कार्रवाई की गयी।        मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण, समावेशी एवं कोविड सुरक्षित मतदान  कराने के लिए प्रदेश में आदर्श आचार संहिता को प्रभावी रूप से लागू किया गया है। इस परिप्रेक्ष्य में पुलिस, आयकर, आबकारी, नारकोटिक्स एवं अन्य विभागों द्वारा कार्यव

प्रत्याशियों इन लिए विशेष

चित्र
चुनाव आयोग ने जारी की चुनावी खर्च की लिस्ट, पांच राज्यों में चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने प्रत्याशियों के हिस्से में जुड़ने वाले खर्च का की लिस्ट जारी कर दी है. कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए कोविड प्रोटोकॉल के तहत इस बार मतदान होना है. इसलिए मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई किट से लेकर साबुन तक को लिस्ट में शामिल किया गया है. इन सब के अलावा चुनाव आयोग ने फर्नीचर से लेकर झंडे, टू व्हीलर, ट्रैक्टर और हाथ रिक्शा के दाम भी तय किए हैं. मर्सिडीज की बात की जाए तो 200 किलोमीटर प्रति दिन के हिसाब से 12,000 का बिल जोड़ा जाएगा. ऑडी A3-A4 के रेट 10,000 तय किए गए हैं. इसके अलावा ऑडी A5-A7 के बदले 12,000 रुपए का बिल जोड़ा जाएगा. प्रत्याशी को चुनाव में होने वाले हर उस खर्च की जानकारी देनी होगी, जिसे चुनावी काम में इस्तेमाल किया जाएगा. विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी के लिए अधिकतम 40 लाख खर्च करने की सीमा तय की गई है. इसलिए आयोग ने जिलाधिकारी और सभी दलों के प्रत्याशियों के साथ मीटिंग कर हर खर्चो की रेट लिस्ट तय कर दी है. सामान कीमत PPE किट 300 रुपये प्रति नग मास्क थ्री लेयर 2 रुपए प्रति नग सैनिटाइजर 100 ml 18 र

तीन साल की मासूम के दोषी को सजाएं मौत

फतेहपुर,: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में 3 साल की मासूम बच्ची से रेप के बाद हत्या के मामले में पॉक्सो कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए अभियुक्त को फांसी की सजा सुनाई है। एएसजे मोहम्मद अहमद खान ने 90 दिनों के भीतर मामले की सुनवाई करते हुए बड़ा फैसला सुनाया है। पुलिस ने दोषी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

सपा का बिगड़ा सियासी समीकरण -जानिये कैसे

चित्र
स्वामी प्रसाद मौर्य के बीजेपी छोड़कर सपा का दामन थामने से सूबे के कई सीटों पर सियासी समीकरण गड़बड़ा गया है. सपा के दो मौजूदा विधायक की सीटों पर पेंच फंस गया है. इसके अलावा स्वामी प्रसाद के साथ आए विधायक और पूर्व विधायकों ने सपा के पुराने नेताओं के चुनाव लड़ने की संभावना पर संकट गहरा गया है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की सियासी तपिश के बीच पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने बीजेपी छोड़कर सपा की साइकिल पर सवार हो गए हैं. स्वामी प्रसाद के साथ तमाम विधायक और पूर्व विधायक ने भी सपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है. स्वामी के आने से भले ही सूबे की कई सीटों पर सपा को सियासी फायदे की उम्मीद दिख रही हो, पर कई सीटों पर सियासी समीकरण बिगड़ गए हैं. सपा के कई मौजूदा विधायकों की सीटों पर संकट गहरा गया है तो कई सीटों पर चुनाव लड़ने की आस लगाए नेताओं को अरमानों पर पानी फिरता नजर आ रहा है.  ऊंचाहार सीट पर मनोज पांडेय की चिंता स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में आने से सीधे तौर पर पार्टी के दो मौजूदा विधायकों के लिए सबसे ज्यादा चिंता बढ़ गई है. इसमें पहली सीट रायबरेली जिले की ऊंचाहार है, जहां से सपा के दोबार के व

कुपवाड़ा में सैनिकों ने 30 लोगों बर्फ से निकाला

चित्र
  जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में तंगधार दर्रे के पास हिमस्खलन में फंसे 30 लोगों को सेना और जीआरईएफ की टीम ने निकाल लिया है। 17/18 जनवरी की रात चौकीबल-तंगधार रोड (एनएच-701) पर हुए हिमस्खलन के चलते ये लोग बर्फ में दब गए थे। जिसके बाद भारतीय सेना और जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स (जीआरईएफ) ने यहां रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया और 30 नागरिकों को बचाया। 

उत्तर प्रदेश के इन 11 गाँवों में अन्तिम बार मतदान

चित्र
उत्तर प्रदेश में इस बार 11 गांवों के वोटर अपने गांव में आखिरी दफे मतदान करेंगे। ऐसा इसलिए होगा कि अगले चुनावों तक उनका गांव ही नहीं बचेगा। ये सारे गांव सोनभद्र जिले में आते हैं, जो कनहर सिंचाई परियोजना की वजह से डूब क्षेत्र में आ जाएंगे। इन गांवों के लोगों को अब अपने विस्थापित होने का इंतजार है। उससे पहले उनकी कुछ मांगें हैं 

बुरांश के पौधे से कोरोना इलाज सम्भव

चित्र
  इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मंडी और इंटरनेशनल सेंटर फॉर जेनेटिक इंजीनियरिंग एंड बायोटेक्नोलॉजी के रिसर्चर्स के अनुसार हिमालय की वादियों में पाए जाने वाले बुरांश के पौधे से कोरोना के संक्रमित मरीजों का इलाज क‍िया जाएगा। इसके फूलों से निकाले जाने वाले अर्क से कोरोना के इंफेक्‍शन को रोकेने में मिल सकती है उप‍लब्धि।