मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश सभी जिलाधिकारी हमेशा रखें फसल क्षति पर निग़ाह



      प्रदेश के राहत आयुक्त ने बताया कि विगत 21, 22, 23 एवं 24  फरवरी को प्रदेश के 13 जनपदों सीतापुर, लखीमपुर खीरी, कौशांबी, अम्बेडकरनगर, बांदा, कानपुर देहात, सुल्तानपुर, प्रयागराज, गाजीपुर, आजमगढ़, फतेहपुर, सोनभद्र, एवं चित्रकूट में आकाशीय विद्युत से 15 जनहानि हुई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा पीड़ित परिवारों को 24 घंटे के अंदर राहत राशि प्रदान किए जाने के निर्देश के क्रम में 15 जन हानियों के सापेक्ष प्रत्येक पीड़ित परिवार को रुपए 4.00 लाख अहैतुक सहायता का भुगतान किया जा चुका है
     उन्होंने  ने बताया कि भारत सरकार की 08.04.2015 की गाइडलाइंस के अनुसार 33 प्रतिशत से अधिक फसल क्षति होने पर राहत देय होती है। इस अवधि में वर्षा तथा ओलावृष्टि से किसी भी जनपद में मानक से अधिक फसलों की क्षति नहीं हुई है केवल 2 जनपदों में 15-20 प्रतिशत की क्षति रिपोर्ट हुई हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा जिलाधिकारियों को फसल क्षति की लगातार निगरानी रखने के निर्देश को दिए गए हैं।
  उन्होंने कहा कि उक्त अवधि में 11 जनपदों में 42 पशु हानि हुई है मुख्यमंत्री जी द्वारा बड़े दुधारू पशुओं की क्षति के लिए रुपए 30 हजार, बड़े गैर दुधारू पशुओं की क्षति के  लिए रुपए 25 हजार, बछड़े,खच्चर आदि के लिए रुपए 16 हजार, तथा भेड़,बकरी,सूअर के लिए रुपए 3 हजार, की सहायता तत्काल प्रदान करने के निर्देश दिए गए हैं।
  श्री संजय गोयल ने बताया कि राहत आयुक्त कार्यालय से 24 घंटे कंट्रोल रूम द्वारा निरंतर जनपदों से संपर्क किया जा रहा है ताकि तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके है।