पौधों में आयरन की कमी को ऐसे दूर करें


लोहे की कमी को दूर करने के लिए सबसे उत्तम साधन है कि फसल पर 1-2 प्रतिशत फैरस – सल्फेट घोल के 250 – 300 लीटर प्रति एकड़ के 2-3 छिड़काव 12-15 दिन के अन्तराल पर करने से लोहे की कमी दूर की जा सकती है। साधारणतया यदि मिट्टी में घुलनशील फैरस सल्फेट डाला जाता है तो वह शीघ्र आक्सीजन से क्रिया करके अघुलनशील फैरिक रूप में बदल जाता है जो पौधों के लिए अप्राप्य हों जाता है। इसके अतिरिक्त आयरन चोलेट को भी फसल पर छिड़ककर लोहे की कमी को ठीक किया जा सकता है। उच्च पी.एच. मान पर सबसे अधिक उपयोगी सिद्ध होता है। फैरस सल्फेट के घोल को उदासीन कर लेना भी आवश्यक है क्योंकि यह तेजाबी होता है। 0.5 – 1.0 प्रतिशत चुने का छना पानी इसके तेजाबी असर को कम कर देता है।