114 ट्रेनों के माध्यम से लगभग 1,20,000 से अधिक प्रदेश के श्रमिकों कि घर वापसी


अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना ने बताया कि प्रदेश में विभिन्न राज्यों से 97 ट्रेन  प्रवासी कामगारों एवं श्रमिकों को लेकर आ चुकी हैं, 17 ट्रेन और आ रही है। इस प्रकार आज रात्रि तक कुल 114 ट्रेन के माध्यम से लगभग 1,20,000 से अधिक प्रवासी कामगार एवं श्रमिक प्रदेश में वापस आ जायेगे। उन्होंने बताया कि आगामी दो दिवसों के लिए विभिन्न राज्यों से 98  ट्रेन और चलाने की अनुमति दे दी गयी है। इस प्रकार प्रदेश में लगभग 40 ट्रेन प्रतिदिन लाये जाने की व्यवस्था कर ली गयी है। आज रात्रि में शारजहां से पहली फ्लाइट लगभग 200 यात्रियों को लेकर लखनऊ आ रही है। उन्होंन बताया कि लाॅकडाउन के तीसरे चरण से पहले तक 1,66,000 से अधिक कामगारों, श्रमिकों एवं विद्यार्थियों को सकुशल उनके जनपद पहुंचाया गया है। लखनऊ, गोरखपुर में 11-11 ट्रेन, प्रयागराज में 08 ट्रेन सहित प्रदेश के 38 स्टेशनों पर विभिन्न प्रदेशों से ट्रेन लायी जा रही है। इसी प्रकार बाराबंकी, आजमगढ़, आगरा, कानपुर, जौनपुर, बरेली, बलिया, वाराणसी, गाजीपुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, अमेठी, मऊ, कन्नौज, बांदा, हरदोई, अयोध्या, सोनभद्र, गोण्डा, सीतापुर, उन्नाव, बस्ती, कासगंज, मानिकपुर (चित्रकूट), सुल्तानपुर, लखीमपुर खीरी, बहराइच, अम्बेडकरनगर, फतेहपुर, फर्रूखाबाद, चन्दौली, हमीरपुर, कुशीनगर, एटा एवं जालौन (उरई) आदि जनपदों में भी प्रवासी कामगारों को लेकर ट्रेन पहुंच चुकी है या पहुंच रही हैं।