39,623 सैम्पल की कि गयी जांच

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य  ने बताया कि प्रदेश में टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है।  एक दिन में सर्वाधिक 39,623 सैम्पल की जांच की गयी। इस प्रकार कोविड-19 की जांच में 11 लाख का आकड़ा पार करते हुए प्रदेश में अब तक कुल 11,56,089 सैम्पल की जांच की गयी है। इससे प्रदेश कोरोना टेस्ट में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हो गया है। उन्हों ने बताया कि प्रदेश में कोरोना की टेस्टिंग 60 प्रतिदिन से बढ़कर आज लगभग 40 हजार प्रतिदिन हो गयी है जो 650 गुणा से अधिक है। उन्होंने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी के मार्गदर्शन एवं निर्देशन में ही प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग क्षमता में बढ़ोतरी सम्भव हुई है।

उन्हों  ने बताया कि प्रदेश में 12,208 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 23,334 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि पूल टेस्ट के अन्तर्गत कुल 2442 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2098 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 344 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि 1,64,788 सर्विलांस टीम द्वारा 1,19,64,948 घरों के 6,11,43,056 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है। अलर्ट जनरेट होने पर अब तक लगभग 2,01,167 लोगों को कंट्रोल रूम द्वारा फोन कर जानकारी प्राप्त की गयी। उन्होंने बताया कि सी0एम0 हेल्प लाइन से भी निरन्तर फोन किया जा रहा है।

श्री प्रसाद ने बताया कि अभियान चलाकर मेरठ मण्डल में 02 जुलाई से डोर-टू-डोर मेडिकल स्क्रीनिंग किया जा रहा है जो आज समाप्त होगा तथा 17 मण्डलों में 05 जुलाई से 15 जुलाई तक डोर-टू-डोर मेडिकल स्क्रीनिंग की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 5,88,759 सर्विलांस टीम द्वारा 2,51,94,708 घरों के 12,94,35,139 लोगों का सर्वेक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि अन्य रोगों से ग्रसित जैसे शुगर के 8,48,593, उच्च रक्तचाप के 2,38,238, कैन्सर के 18,018, हृदय रोग केे 54,247 तथा किडनी के 16,879 रोगी पाये गये।