ब्वॉयफ्रेंड को पति बताकर हुई क्वारटाइंन


ब्वॉयफ्रेंड को पति बताकर क्वारटाइंन सेंटर में तीन दिन तक साथ रखा, महिला कांस्टेबल की खुली पोल तो विभाग हैरान।  नागपुर (मानवी मीडिया) : क्वारटाइंन को लेकर ऐसा रोचक मामला सामने आया है जिसको सब चटकारे ले लेकर पढ़ रहे हैं। ये मामला बजाज नगर थाने का है।  यहां एक महिला कांस्टेबल को उसके स्टाफ कर्मचारी के साथ कोरोना होने के कारण क्वारनटीन सेंटर में  दाखिल किया गया। महिला ने आवेदन करके कहा कि उसका पति पोस्टल विभाग में काम करता है उसे भी उसके साथ क्वारनटीन कर दो। इसके बाद महिला और उसके दावे के मुताबिक पति को क्वारनटीन कर दिया गया। जबकि वास्तव में महिला कांस्टेबल का पति नहीं था बल्कि उसका शादीशुदा प्रेमी था। दोनों क्वारनटाइन सेंटर में तीन-चार दिन तक रहे। जब प्रेमी तीन दिन तक घर नहीं पहुंचा तो उसकी पत्नी को इस बारे में पता चला। अंत में प्रेमी की पत्नी बजाज नगर थाने पहुंची और पति की शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस आयुक्त डॉ भूषण कुमार उपाध्याय से मामले की जांच के आदेश दिए।
मामले में पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला कांस्टेबल अविवाहित है और उसके एक सहकर्मी की जांच में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद उसे क्वारनटीन में रखा जाना था, इसी दौरान वह दूसरे व्यक्ति के साथ क्वारनटीन में चली गई। अधिकारी ने कहा कि बाद में पता चला महिला जिस व्यक्ति को अपना पति बता रही थी, वह उसका प्रेमी है, जो डाक विभाग में काम करता है। इसके बाद मामले का खुलासा होने पर दोनों को अलग किया गया।  व्यक्ति को दूसरे क्वारनटीन सेंटर में भेजा गया।