नाव से स्कूल पहुंचकर किया ध्वजारोहण


बाढ़-पानी के बीच भी कम नहीं हुआ देशभक्ति का जज्बा, टीचर नहीं आए तो ग्रामीणों ने किया झंडावंदन। उत्तर प्रदेश के जिला बाराबंकी में बाढ़ के कारण स्कूल में पानी भर गया, इसके बाद भी ध्वजारोहण किया गया। बाढ़ से घिरे दो स्कूलों में भी फहराया गया तिरंगा , आधा स्कूल पानी में डूबने के बाद भी हुआ ध्वजारोहण। उत्तर प्रदेश के कई जिले बाढ़-पानी की चपेट में है। इसके बाद भी यहां स्वतंत्रता दिवस पर लोगों में देशभक्ति का जुनून कम नहीं हुआ। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में बाढ़-पानी के कारण एक स्कूल में ध्वजारोहण करने टीचर नहीं पहुंच पाए। इसके बाद ग्रामीणों ने नाव से स्कूल पहुंचकर झंडावंदन किया।बाराबंकी की तहसील सिरौलीगौसपुर के गांव सनावा और तेलवारी में भारी बारिश हुई है। बारिश के कारण गांव में हर तरफ पानी भर गया है, जिसकी चपेट में सरकारी स्कूल भी आए हैं। आधा स्कूल पानी में डूब गया है, जिसके कारण एक दिन पहले तक यह तय नहीं हो पा रहा था कि स्वतंत्रता दिवस पर यहां झंडावंदन कैसे होगा।
पानी देखकर हार मान गए टीचर
तेलवारी गांव के जगपाल सिंह सूर्यवंशी ने बताया कि यहां पर तैनात शिक्षक झंडावंदन के लिए आए जरूर थे, लेकिन पानी देख कर वह हार मान गए। इसके बाद ग्रामीणों ने यहां पहुंचकर ध्वजारोहण किया। स्कूल में रसोइए का काम करने वाले साहब दीन ने बताया कि हर बार शिक्षक ही झंडा फहराते हैं, लेकिन इस बार वे नहीं आ सके इसलिए हमने ही झंडावंदन किया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य