पाँच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीख़ों का ऐलान

केरल, पुड्डूचेरी, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनावों के कार्य क्रम घोषित कर दिए गए हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा के अनुसार केरल और तमिलनाडु विधानसभा के चुनाव- 6 अप्रैल को होंगे; मतगणना 2 मई को होगी । जबकि केन्द्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में एक चरण में मतदान होगा. नतीजे 2 मई को आएंगे.चुनाव की अधिसूचनाः 12 मार्च को जारी होगी और नामांकन की आखिरी तिथिः 19 मार्च होगी। तथा नामांकन पत्रों की जांचः 28 मार्च और नाम वापसी की तिथिः 22 मार्च होगी। मतदान की तिथिः 6 अप्रैल औरमतगणना की तिथिः 2 मई होगी। चुनाव आयोग के अनुसार पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में विधानसभा के चुनाव होंगे। 27 मार्च को पहले चरण के लिए और 6 अप्रैल को दूसरे चरण के लिए वोट डाले जाएंगे।

पाँच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीख़ों के ऐलान को लेकर चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ़्रेंस जारी।

बंगाल की 294, तमिलनाडु की 234, केरल की 140, असम की 126 और पुड्डुचेरी की 30 सीटों के लिए चुनाव की तारीख़ों का ऐलान।

 असम में 2016 विधानसभा चुनाव में 24,890 चुनाव केंद्र थे, 2021 में चुनाव केंद्रों की संख्या 33,530 होगी। तमिलनाडु में 2016 विधानसभा चुनाव में 66,007 चुनाव केंद्र थे, 2021 में चुनाव केंद्रों की संख्या 88,936 होगी: सुनील अरोड़ा, मुख्य चुनाव आयुक्त।

केरल में पहले 21,498 चुनाव केंद्र थे, अब यहां चुनाव केंद्रों की संख्या 40,771 होगी। पश्चिम बंगाल में 2016 में 77,413 चुनाव केंद्र थे अब 1,01,916 चुनाव केंद्र होंगे: सुनील अरोड़ा, मुख्य चुनाव आयुक्त।

सभी चुनाव अधिकारियों का टीकाकरण होगा: मुख्य चुनाव आयुक्त।

सभी पोलिंग स्टेशनों पर पीने के पानी, बिजली, वेटिंग एरिया, सैनिटाइजर, मास्क, सोप वाटर, वील चेयर आदि की व्यवस्था की जाएगीः चुनाव आयोग।

 27 मार्च पहला चरण
1 अप्रैल  दूसरा चरण
6अप्रैल तीसरा चरण

2 मई नतीजे।

 केरल में 6 अप्रैल को एक ही चरण में वोटिंग।

 तमिलनाडु सभी सीटों पर 6 अप्रैल को एक ही चरण में मतदान।

 बंगाल में 8 चरणों में चुनाव।

 बंगाल- पहला चरण 27 मार्च को,  दूसरा चरण 1 अप्रैल को,तीसरा चरण 10 अप्रैल को