उत्तर प्रदेश में लगेगें दस नये आक्सीजन प्लांट



        प्रदेश के प्रत्येक जनपद में चिकित्सा कर्मियों, कोविड बेड, दवाओं, मेडिकल उपकरणों और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता को सुनिश्चित करने के लिए सीएम ने इन सभी पर कड़ी निगरानी रखने के आदेश दिए हैं। सीएम ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग को ऑक्‍सीजन और रेमिडीसीवीर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए कहा है। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा मेडिकल ऑक्सीजन की सुचारु आपूर्ति के संबंध में स्थापित कंट्रोल रूम 24×7 सक्रिय रहे। ऑक्सीजन उपलब्धता की दैनिक समीक्षा करने के निर्देश भी सीएम ने दिए हैं।

36 घंटे पहले ही अनुमानित ऑक्सीजन की उपलब्धता को किया जाएगा सुनिश्चित। 

प्रदेश के सभी अस्‍पतालों में अगले 36 घंटों के लिए पूर्ति अनुसार ऑक्‍सीजन का आंकलन कर उसकी उपलब्‍धता को सुनिश्चित करने के निर्देश सीएम ने दिए हैं। प्रदेश में रेमि‍डीसीवीर समेत दूसरी जरूरत की दवाओं की कोई कमी नहीं है। सभी जिलों में इनकी उपलब्धता सुनिश्चित करने के आदेश सीएम ने दिए हैं।  

निजी मेडिकल कॉलेजों को अब बिना झंझट मिलेगा सिलेंडर। 

प्रदेश के निजी मेडिकल कॉलेजों में जहां ऑक्सीजन सिलेंडरों की कमी के कारण आईसीयू बेड उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं, ऐसे संस्थानों को राज्य सरकार ऑक्‍सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराएगा। सीएम ने डीजी मेडिकल एजुकेशन इस व्यवस्था को सुनिश्चित करेंगे।

अवध शिल्‍प ग्राम में तैयार होगा नया कोविड अस्पताल। 

राजधानी लखनऊ के अवध शिल्प ग्राम में एचएएल के सहयोग से एक नया सभी सुविधाओं से लैस एक कोविड हॉस्पिटल तैयार किया जाएगा। सीएम ने स्वास्थ्य विभाग को एचएएल से समन्वय स्थापित कर इस महत्वपूर्ण कार्य को तत्काल क्रियाशील करने के आदेश दिए हैं।