नवाबों के शहर लखनऊ में, कोविड मरीजों की भर्ती व इलाज की क्या दुर्दशा


नवाबों के शहर लखनऊ में, कोविड मरीजों की भर्ती व इलाज की क्या दुर्दशा है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि  कल सोमवार को एक बेटा मां को इलाज नहीं मिलने से सीएमओ डा. संजय भटनागर की गाड़ी के आगे लेट गया। दरअसल मरीज सुबह से अपनी मां को कोविड कंट्रोल रूम के बाहर दिन भर लेकर खड़ा रहा। मगर किसी भी अस्पताल में भर्ती के लिए उसका अप्रूवल नहीं बनाया जा रहा था। सीएमओ संजय भटनागर के पहुंचने पर उसने अपनी मां के इलाज की बिनती की, लेकिन उसकी बात को अनसुना कर सीएमओ अपनी कार में बैठकर वहां से जाने लगे। इसके बाद वह व्यक्ति उनकी कार के आगे लेट गया। इसके बावजूद सीएमओ अपनी कार से नीचे नहीं उतर रहे थे। जब व्यक्ति नहीं हटा तो आखिरकार सीएमओ को कार से नीचे उतरना पड़ा। फिर उन्होंने उसकी मां को भर्ती करवाने के लिए अनुमति पत्र बनवाया। 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान