कोविड से लडने में हमारी नीति सही-योगी


- आज केवल सरकार के स्तर पर लड़ाई नहीं हो रही, सबका योगदान है। हधमारी आशा कार्यकत्री, आंगनवाड़ी , युवक मंगल दल, सिविल डिफेंस, स्वच्छाग्रही सभी का योगदान है।अगर ईमानदारी से प्रयास होगा तो कोरोना जरूर हारेगा।

- अगर आपको लगता है कि आरटीपीसीआर में देर हो रही है तो एंटीजन टेस्ट कराएं। एंटीजन में देर हो तो ट्रूनेट टेस्ट कराएं। सरकार ने सभी की व्यवस्था की है। टेस्ट इस महामारी से बचाव में बहुत जरूरी है। लापरवाही किसी स्तर पर न हो।

- मुझे खुद कोविड संक्रमण हुआ, घर पर रहा, इलाज करा रहा अब ठीक हो रहा हूँ। लोगों को बताएं कि अनावश्यक सब लोग हॉस्पिटल की ओर न भागें। सबको ऑक्सीजन नहीं चाहिए। सबके लिए रेमेडेसीवीर जरूरी नहीं। डॉक्टर को बताएं, वही तय करें कि मरीज के लिए क्या जरूरी है, क्या सही है। इस बारे में लोगों को बताया जाना चाहिए। 

- गांव हो या शहर। हर जगह बाहर से आने वाले लोगों का जांच वहीं कराएं। होम आइसोलेशन में रखें। उसके घर में   असुविधा है तो इंस्टिट्यूशनल क्वारन्टीन की सुविधा दें। हर दिन उस व्यक्ति से संपर्क करें। उनका तापमान लें। उन्हें मेडिकल किट मुहैया कराएं।

- कोविड के खिलाफ इस लड़ाई में हमारी नीति सही दिशा में है। चार दिन पहले तक प्रदेश में 38 हजार नए मामले रोज आ रहे थे, आज घटते-घटते 29 हजार पर आ गए। 

-कोविड से बचाव का सबसे बड़ा हथियार है टीकाकरण। सभी लोग वैक्सीन लगवाएं, यह आप लोग सुनिश्चित कराएं। एक मई से 18 वर्ष से अधिक के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण होने जा रहा है। सरकार ऐसी व्यवस्था कर रही है कि उतने ही लोग सेंटर पर आएं जितनों का नम्बर है। ऐसी व्यवस्था बनाई जा रही है कि उतने हो लोग बुलाये जाएं जितने को टीका लगना है। टीकाकरण केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन हो। यह आप लोग भी जरूर देखें।

- अब तक उत्तर प्रदेश में 04 करोड़ 03 लाख टेस्ट हो चुके हैं। वैक्सीन देने में भी हम नम्बर एक हैं। जबकि हमसे ज्यादा संक्रमण महाराष्ट्र और दिल्ली जैसे हमसे  आबादी वाले राज्यों में है। यह आप सभी के सहयोग का ही नतीजा है।

- सरकार हर गरीब के भरण-पोषण की व्यवस्था कर रही है। जल्द ही गरीब परिवारों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरण होने वाला है। हर गरीब खाद्यान्न पाए, किसी का शोषण न हो, इसमें आप लोगों का सहयोग बहुत जरूरी है।

- शासन स्तर के अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि निगरानी समितियों की समस्याओं का समाधान हो, उन्हें बुनियादी सुविधा मिलती रहे। यह फ्रंट लाइन कोविड वॉरियर हैं। इस चुनौती का हम लोग डटकर सामना करेंगे और कोरोना को हराएंगे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य