पूर्वांचल में 26 से 29 तक रहेगा यास का प्रभाव।

 चंद्र शेखर आज़ाद यूनिवर्सिटी के मौसम विज्ञानी ने बताया की बंगाल की खाड़ी से उठा 'यास' तूफान पूर्वांचल को भी अपनी गिरफ्त में ले सकता है। मौसम विभाग ने पूर्वांचल के आजमगढ़, मऊ, गाजीपुर, बलिया, देवरिया, संत कबीर नगर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, महराजगंज और कुशीनगर जनपद को इससे अलर्ट करते हुए इससे निपटने की तैयारी करने का सुझाव दिया है।

पूर्वांचल का हीट इंडेक्स बढ़ा 

इधर, गोरखपुर समेत पूर्वांचल के अधिकांश जिलों में तेज धूप और नमी के मेल ने पूर्वांचल का हीट इंडेक्स बढ़ा दिया है। नतीजतन उमस भरी गर्मी से लोगों का जन-जीवन प्रभावित होने लगा है। पर इसे लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं। गर्मी को शांत करने के लिए बंगाल की खाड़ी में 'यास' नाम  के चक्रवाती तूफान की परिस्थितियां तैयार हो गई हैं। यह परिस्थितियां 26 मई तक धूप के लिए ग्रहण बन जाएंगी। 26 से काले घने बादलों के साथ बूंदाबादी का जो सिलसिला शुरू होगा, वह 27, 28 व 29 मई तक बारिश के रूप में जारी रहेगा।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य