स्टेट स्वीप कोर कमेटी की बैठक सम्पन्न

 
आगामी विधानसभा निर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण तथा विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 हेतु SVEEP योजना (Systematic Voters' Education and Electoral Participation)  के अन्तर्गत मतदाता जागरूकता, पंजीकरण एवं सहभागिता हेतु की जाने वाली गतिविधियों के लिए रूपरेखा तैयार किये जाने के सम्बंध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला की अध्यक्षता में स्टेट स्वीप कोर की बैठक मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के सभागार में सम्पन्न हुई।

बैठक में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि विभिन्न विभागों द्वारा आपस में समन्वय स्थापित कर मतदाता जागरूकता, पंजीकरण एवं सहभागिता हेतु कार्य किया जाय। उन्होंने कहा कि आयोग की अपेक्षा है कि ‘‘कोई मतदाता न छूटे’’ (No Voter to be left behind)के क्रम में समस्त अर्ह मतदाताओं का पंजीकरण सुनिश्चित किये जाने की आवश्यकता है। वर्तमान में मतदाता सूचियों के निरन्तर पुनरीक्षण की कार्यवाही गतिमान है, जिसमें युवा मतदाता (18-19, 19-30 आयुवर्ग के मतदाता), महिला मतदाता तथा दिव्यांग मतदाताओं के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।  उपरोक्त के अतिरिक्त मतदाता सूची से मृतक एवं अन्य अनर्ह मतदाताओं के विलोपन की कार्यवाही की जानी अपेक्षित है। अर्ह मतदाताओं के पंजीकरण के साथ-साथ उन्हें निष्पक्ष एवं भयमुक्त होकर मतदान करने हेतु प्रेरित किया जाना भी हमारा दायित्व है।
श्री शुक्ला ने बताया कि मतदाता पंजीकरण हेतु मतदाताओं को आयोग द्वारा उपलब्ध कराये गये विभिन्न IT Plateforms यथा NVSP.in, voterportal.eci.gov.in, Voter Helpline App, PwD App तथा हेल्पलाइन 1950 आदि की जानकारी एवं उसका उपयाग किए जाने हेतु जागरूक किया जाय। राज्य स्तर व जनपद स्तर पर तथा विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र स्तर पर SVEEP नोडल अधिकारी नियुक्त हैं। राज्य स्तर पर मतदाता जागरूकता हेतु दिव्यांग श्रेणी में सुश्री अरूणिमा सिन्हा, पर्वतारोही तथा सामान्य श्रेणी में श्री भुवनेश्वर कुमार, क्रिकेटर आईकॉन नियुक्त है। उपरोक्त के अतिरिक्त अन्य आईकॉन्स का चयन किये जाने हेतु कार्यवाही की जा रही है। जनपद स्तर पर SVEEP Icon   के चयन हेतु कला, संस्कृति, खेल, साहित्य, शिक्षा आदि के क्षेत्र में महत्वपूर्ण व्यक्तियों के नाम आयोग के निर्देशानुसार चयन किये जाने हेतु जनपदों को निर्देश दे दिये गये है।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि उच्च/माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा विश्वविद्यालयों/महाविद्यालयों/कालेजों में मतदाताओं की जागरूकता बढ़ाने एवं निर्वाचक नामावली में अधिकाधिक संख्या में पंजीकरण हेतु मतदाता जागरूकता विषय पर ऑनलाइन प्रतियोगिताएं क्वीज़ प्रतीयोगिता, निबन्ध प्रतियोगिता, स्लोगन, पेन्टिंग, मेहंदी, रंगोली कहानी आदि कार्यक्रम आयोजित किये जाएं। युवा मतदाताओं विशेषकर महिला मतदाताओं की जागरूकता एवं सहभागिता हेतु शैक्षणिक संस्थाओं में मतदाता जागरूकता विषयों पर विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित करायी जा सकती है। यथासम्भव सोशल मीडिया के माध्यम से युवा मतदाताओं से आनलाइन संवाद स्थापित करने में एन.एस.एस., नेहरू युवा केन्द्र, एन.सी.सी., भारत स्काउट एवं गाइड तथा सिविल डिफेन्स आदि संस्थाओं की सहायता ली जाय। नेहरू युवा केन्द्र द्वारा गांवोॅं में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक कर सकते है। नेहरू युवा केन्द्र तथा स्काउट एण्ड गाइड के वॉलिन्टियर्स द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से मतदाता जागरूकता हेतु कार्य किया जा सकता है।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि दूरदर्शन, आकाशवाणी द्वारा जन सामान्य के लिए प्रसारित कार्यक्रमों तथा टॉक शो के माध्यम से मतदाताओं को मतदान के प्रति जागरूक किया जाय। जनपद स्तर पर ज्ंतहमजमक Targeted Interventions हेतु SVEEP योजनान्तर्गत गठित की जाने वाली विभिन्न समितियों जैसे कि छात्र-छात्राओं हेतु ELC समिति, शासकीय/अशासकीय कार्यालयों तथा निजी संस्थाओं में VAFs (Voter Awareness Forums), दिव्यांग मतदाताओं के लिए District Steering Committee on Accessible Election (DSCAE) तथा सामुदायिक सहभागिता को बढ़ाने हेतु चुनाव पाठशालाओं को Activate कर मतदाता जागरुकता बढायी जाय। छूटे हुए मतदाताओं के नाम शामिल किए जाने एवं निर्वाचक नामावली मे विद्यमान डुप्लीकेट नामों के अपमार्जन हेतु ग्राम सभा/स्थानीय निकाय एवं रेजीडेण्ट वेलफेयर एसोसियेशन इत्यादि की एक खुली बैठक का आयोजन किया जाएगा। जिसमें सम्बन्धित भाग संख्या की मतदाता सूची बी0एल0ओ0 द्वारा पढ़ी जाएगी। उक्त बैठक मे दिव्यांग मतदाताओं के टैगिंग का कार्य बी0एल0ओ0 द्वारा बी0एल0ओ0 रजिस्टर में पृथक से किया जाएगा। इस बार इनकी टैगिंग पर विशेष ध्यान दिया जाना है।
जनपद स्तर पर दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी, रेडक्रास, इत्यादि विभागों के साथ सहभागिता करते हुए दिव्यांग मतदाताओं के चिन्हीकरण की कार्यवाही की जाय। उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम से मतदाता पंजीकरण हेतु लोगों को जागरूक किया जाय। सभी बैंकों की शाखाओं में मतदाता जागरूकता के बैनर लगवाये जाएं। मतदाताओं के अधिक से अधिक पंजीकरण के लिए वोटर हेल्पलाइन ऐप का प्रचार-प्रसार किया जाय, तथा इसके प्रति लोगों को जानकारी प्रदान की जाय। विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के आगामी विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण को दृष्टिगत रखते हुए मतदाता सहायता केन्द्र/वोटर फैसिलेटेशन सेन्टर्स के माध्यम से दिव्यांग मतदाताओं को सुविधाएं दी जाएगी। जिसमे उन्हें फार्म-6, 7, 8 व 8ए को भरने मे सहायता प्रदान किया जाएगा।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि बैंक, पोस्ट ऑफिस, रेलवे, ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन तथा स्वास्थ्य विभाग से उनके स्तर पर जन सामान्य के लिए उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से मतदाता जागरूकता हेतु पोस्टर, पम्पलेट, स्टीकर, स्लोगन, स्टाम्प मोहर आदि द्वारा मतदाता पंजीकरण हेतु जागरूक किया जाय। आयुक्त, राज्य कर विभाग द्वारा मतदाता जागरूकता हेतु जनपदों में स्थापित सिनेमा घरों, केबिल नेटवर्क इत्यादि के माध्यम से प्रचार प्रसार से संबंधित लघु फिल्म स्पॉट आदि का जनहित में प्रसारण किया जाय। इसी प्रकार नगर आयुक्त, खेल, संस्कृति विभाग से उनके यहां उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से जनहित में मतदाता जागरूकता करायी जाय। कोविड-19 संक्रमण से बचाव हेतु भारत सरकार, राज्य सरकार एवं भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित किये गये SOPs का अनुपालन सुनिश्चित किया जाय।
बैठक में संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी रमेश चन्द्र राय, अवनीश सक्सेना, सहायक मुख्य निर्वाचन अधिकारी अरविन्द कुमार पाण्डेय, एडीएम प्रशासन अमर पाल, स्टेट डायरेक्टर नेहरू युवा केन्द्र गोपाल भगत, डिप्टी कलेक्टर नगर निगम सविता शुक्ला, सहायक निदेशक संस्कृति अमित अग्निहोत्री, संयुक्त निदेशक खेल अनिल बनौधा सहित सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।    

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य