यूपी में मानसून पुनः सक्रिय, छः दिन तक होगी बारिश

 

मौसम वैज्ञानिक जेपी गुप्ता ने कहा कि लखनऊ में दिन का पार सामान्य से दो से तीन डिग्री सेल्सियस कम दर्ज हुआ। उन्होंने कहा कि बंगाल की खाड़ी से नम पूर्वी हवाओं के पहुंचने से बीते चार दिनों से निचले स्तर पर बादल छाए और छिटपुट बारिश दर्ज की गई। यूपी के अधिकर हिस्सों में मानसून 18 जून को पहुंचा जो तय समय से नौ दिन पहले था। लेकिन इसके बाद निष्क्रिय हो गया। इसका कारण उन्होंने बताया कि बंगाल की खाड़ी में लगातार नए-नए सिस्टम बन रहे हैं लेकिन पछुआ के प्रभावी होने के कारण वह बिहार-यूपी की ओर नहीं बढ़ पा रहे हैं। दूसरी तरफ अरब सागर की ओर से बढ़ रहा मानसून गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान समेत हरियाणा, दिल्ली व पंजाब समेत हिमाचल व उत्तराखंड तक में अच्छी बरसात की सम्भावना पैदा कर रहा है। इसी सिस्टम के प्रभाव से यूपी में बारिश की संभावना जताई गई है।

मौसम का हाल बताने वाली स्काईमेट वेदर के अनुसार, 17-18 जुलाई से पूरे उत्तर भारत में मानसून व्यापक रूप से न केवल सक्रिय रहेगा बल्कि अच्छी बारिश भी देगा। एजेंसी ने पांच से छह दिनों तक पूरे क्षेत्र में अच्छी से भारी बारिश तक का अनुमान जताया है। मौसम विभाग ने भी 18 जुलाई से यूपी सहित उत्तर देश में व्यापक बारिश की भविष्यवाणी की है।