सास-बहू सम्मेलन बेटे के साथ का आयोजन

 राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उ0प्र0 द्वारा मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत उच्च प्रजनन दर वाले मिशन परिवार विकास जनपदों में नियोजन कार्यक्रम के अन्तर्गत 20 सितम्बर, 2021 से 20 अक्टूबर, 2021 के मध्य ‘‘सास-बहू सम्मेलन बेटे के साथ’’ का आयोजन किया जा रहा है। वर्ष 2017-18 से समुदाय में उपकेन्द्र स्तर पर आशाओं के माध्यम से सास-बहू सम्मेलन का आयोजन किया जाता रहा है। सास-बहू सम्मेलन के दौरान पुरूष सहभागिता सुनिश्चित करने हेतु वर्ष 2021-22 में आज से 20 अक्टूबर, 2021 तक सास-बहू सम्मेलन बेटे के साथ सम्मेलन किया जायेगा। मिशन निदेशक सुश्री अपर्णा यू0 ने यह जानकारी देते हुए बताया कि ‘‘सास-बहू सम्मलेन बेटे के साथ’’ का आयोजन कुल 104821 सम्मेलन उपकेन्द्र स्थल पर चरणबद्ध तरीके से किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। सम्मेलन के दौरान विगत एक वर्ष के दौरान चिन्हित नवविवाहित दम्पत्ति को परिवार नियोजन साधनों को अपनाने हेतु प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से ’’शगुन किट’’ का वितरण भी किया जायेगा।

मिशन निदेशक ने बताया कि मिशन परिवार विकास कार्यक्रम अन्तर्गत आच्छादित उच्च प्रजनन दर वाले 57 जनपदों में समुदाय में उपकेन्द्र स्तर पर आशाओं के माध्यम से सास बहू सम्मेलन का आयोजन का उद्देश्य सास और बहू के मध्य समन्वय एवं संवाद को उनके पारस्परिक अनुभवों के आधार पर रूचिकर खेलों और गतिविधियों के माध्यम से बेहतर किया जाना हैे, जिससे इस गतिविधि के माध्यम से प्रजनन स्वास्थ्य के प्रति अवधारणाओं, व्यवहार एवं विश्वास में बदलाव लाया जा सके।
सुश्री अपर्णा यू0 ने बताया कि ’’सास-बहू सम्मेलन बेटे के साथ’’ 2-3 आशा के कार्यक्षेत्र को संयुक्त कर किया जायेगा। सितम्बर एवं अक्टूबर माह के दौरान हेल्थ प्रमोशन दिवस का आयोजन ’’सास-बहू सम्मेलन बेटे के साथ’’ लिंक कर किया जा रहा है, जो परिवार नियोजन थीम पर आधारित है। प्रत्येक सम्मेलन में प्रति आशा के कार्यक्षेत्र से 08-10 परिवार से सास, बेटा एवं बहू प्रतिभागी होंगंे। इस सम्मेलन में विगत एक वर्ष के दौरान नव विवाहित दम्पत्ति, विगत 01 वर्ष के अन्दर उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिला, ऐसे दम्पत्ति जिन्होंने परिवार नियोजन का कोई भी साधन नही अपनाया है, ऐसे दम्पत्ति जिनके 03 या 03 से अधिक बच्चे हैं,  ऐसे आदर्श दम्पत्ति जिनका विवाह से 2 वर्ष बाद पहला बच्चा हुआ हो, जिनके पहले बच्चे से दूसरे बच्चे में कम से कम 03 वर्ष का अन्तराल हो या दम्पत्ति ने दो बच्चों के बाद स्थायी साधन अपनाया हो, को प्राथमिकता देते हुये आमंत्रित किया जायेगा तथा उनके अनुभव भी साझा किये जायेंगें।
मिशन निदेशक ने बताया कि सम्मेलन की अवधि 03 घण्टे की होगी। सम्मेलन को रुचिकर बनाने हेतु प्रतिभाग करने वाले एक ही परिवार के प्रतिभागियों द्वारा परस्पर एक-दूसरे का परिचय दिया जायेगा। जैसे-सास द्वारा बहू का, बहू द्वारा सास का एवं बेटे द्वारा मां एवं अपनी पत्नी का परिचय दिया जायेगा। जिसमें सभी एक दूसरे की विशेषता बतायेंगे। तदुपरान्त खेल के अन्तर्गत 04 परिवार प्रतिभाग करेंगंे, जिसमें प्रत्येक परिवार को अलग-अलग संख्या में क्रमशः एक,दो,तीन, तथा पांच गुब्बारे वितरित किये जायेंगे। इस खेल के माध्यम से सीमित एवं छोटे परिवार के महत्व के बारे में बताया जाना है।   सम्मेलन में परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी साधनों की जानकारी, प्रसव पश्चात परिवार नियोजन साधनों की जानकारी, दो बच्चों के बीच में अन्तराल, गर्भसमापन पश्चात परिवार नियोजन सम्बन्धी महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर जानकारी प्रदान किया जायेगा। सम्मेलन के दौरान प्रतिभागी बेटों द्वारा मुख्य संदेश पढ़ते हुये परिवार की खुशहाली हेतु शपथ ली जानी है।
सम्मेलन में प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाएगा तथा सही जवाब देने वाले परिवार को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा।