उ0प्र0 के 15 और जनपद फल पट्टी क्षेत्र घोषित


उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा फलों के विकास के लिए आम, अमरूद और आंवला को फल पट्टी क्षेत्र घोषित किया गया है। यह फल पट्टी क्षेत्र राज्य के 15 जिलों में प्रभावी रूप से क्रियान्वित होगी। इन फलों के समुचित विकास के लिए चालू वित्तीय वर्ष 2019-20 में 50 लाख रु0 की धनराशि स्वीकृत की गई है।यह जानकारी प्रदेश के उद्यान निदेशक एस.बी. शर्मा ने दी। उन्होंने बताया कि राज्य के कुछ क्षेत्रफल विशेष उत्पादन के लिए अधिक उपयुक्त हैं। इन क्षेत्रों में फल विशेष के गुणवत्तायुक्त उत्पादन तथा इस क्षेत्र विस्तार को बढ़ावा देने हेतु फल पट्टी विकास योजना शुरू की गई है। उन्होंने बताया कि अमरूद फल पट्टी के अंतर्गत जनपद कौशाम्बी एवं बदायूं के 6 विकास खण्ड तथा आंवला फल पट्टी के तहत जनपद प्रतापगढ़ के 2 विकास खण्डों का चयन किया गया है।



श्री शर्मा के अनुसार आम फल पट्टी के अंतर्गत जनपद सहारनपुर, मेरठ, बागपत, बुलंदशहर, अमरोहा, प्रतापगढ़, वाराणसी लखनऊ, उन्नाव, सीतापुर, हरदोई, अयोध्या तथा बाराबंकी के 31 विकास खण्डों को चयनित किया गया है। उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत कैनोपी प्रबंधन, जीर्णोद्धार, ग्रेडिंग, पैकिंग सेंटर, पावर्ड, नैपसेक स्प्रेयर/पावर आपरेटेड ताइवान स्प्रेयर, ट्रैक्टर माउण्टेट, आपरेटेड स्प्रेयर तथा आई.पी.एम. (इन्टीग्रेटेड पेस्ट मैनेजमेन्ट) के वितरण के कार्यक्रम संचालित किए जायेंगे। इसके साथ ही फल उत्पादकों को फल विकास की नवीनतम तकनीकी में प्रशिक्षण दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए कार्यक्रमवार इकाई लागत का 30 से 50 प्रतिशत तक सहायता फल उत्पादकों को उपलब्ध कराने का भी प्राविधान किया गया है।
उन्होंने बताया कि इच्छुक कृषकों को योजना के अंतर्गत लाभार्थी चयन हेतु ऑनलाइन पंजीकरण कृषि विकास की वेबसाइट ूूण्नचंहतपबनसजनतमण्बवउ पर कराना होगा। तदोपरान्त उन्हें निर्धारित प्रारूप पर प्रार्थना-पत्र जिला उद्यान अधिकारी को देना होगा, जिसके साथ कृषक होने का साक्ष्य (किसान जोत बही), प्रस्तावित क्षेत्रफल में जिसमें कार्यक्रम लिया जाना हो विशेष साक्ष्य 10 रुपये के स्टाम्प पर अनुबन्ध पत्र संलग्न करना होगा।