सागौन के 500 पौधे से चार करोड़ की कमाई


मध्य प्रदेश के खंडवा जनपद में हर साल खेती में हो रहे नुकसान की एक बार में भरपाई किस तरह की जा सकती है। यह एक किसान ने कर दिखाया। 8 एकड़ खेत में मेढ़ बनाकर सागौन के 500 पौधे रोपे। 6 साल तक उन्हें सींचा। 9 साल बाद किसान को एक वृक्ष के 40 हजार रुपए मिलेंगे। इस तरह 15 साल में वह 2 करोड़ कमा लेगा। इतनी ही अवधि के बाद किसान फिर से दो करोड़ और कमाएगा।



जिला मुख्यालय से 7 किमी दूर ग्राम बड़गांव गुजर के किसान धनाजी रामचंद्र जाधव (50) ने खेती को लाभ का धंधा बनाया। साल 2010 में गांव के बाहर 8 एकड़ खेत में आधुनिक खेती के साथ उद्यानिकी खेती शुरू की। खेत के चारों ओर फलदार पेड़ लगाए। खेत में छह मेढ़ बनाई। मेढ़ के दोनों ओर पांच-पांच फीट की दूरी पर सागौन के 500 पौधे रोपे। 6 साल में पौधे बड़े होकर पेड़ बन गए हैं। धनाजी ने बताया उन्होंने एक पौधा 80 रुपए में खरीदा था। 15 साल पूरे होने पर यही पौधा पेड़ बनकर 40 हजार रुपए की आमदनी देगा। एक बार कटाई होने पर 2 करोड़ रुपए की आय होगी। इसके बाद काटे गए पेड़ 15 साल बाद फिर से उसी स्थिति में पहुंच जाएंगे और वह दोबारा वही लाभ कमा लेगा। किसान ने पूरे खेत में 6 मेढ़ बनाई जिसका बहता पानी सागौन के पेड़ों को मिलता है। 
धनाजी ने खेत को वाटिका की तरह सजाकर रखा है। वे गेहूं, सोयाबीन सहित अन्य फसलें तो सालभर लेते ही हैं, साथ ही फल की खेती भी करते हैं। उनके खेत में आंवले के 10, कटहल 5, नारियल 4, संतरा 5, मौसंबी 5, चीकू 2, जाम 8, आम 25, नींबू 20, नीम 25 व गुलमोहर के 10 पेड़ हैं। जो छाया देने के साथ ही सालभर में एक बार फल भी देते हैं।