भारतीय विष विज्ञान संस्था जांच करेंगी भू-जल की गुणवत्ता

 

प्रदेश के कई स्थानों पर भू-जल की गुणवत्ता दूषित होने के प्रकरण संज्ञान में आने पर भूगर्भ जल विभाग द्वारा भारतीय विष विज्ञान संस्थान, लखनऊ से भूजल के नमूनों की जांच कराने का निर्णय लिया है।

भूगर्भ जल विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गयी जानकारी के अनुसार भूजल गुणवत्ता का सटीक आंकलन किये जाने हेतु यह व्यवस्था प्रदेश में पहली बार की गयी है। इसके तहत पूरे प्रदेश में चरणबद्ध ढंग से रिवर बेसिन को चिन्हित करते हुए भूजल गुणवत्ता का परीक्षण कराया जायेगा।

चालू वित्तीय वर्ष में निर्धारित लक्ष्यों के सापेक्ष भूजल संसाधनों की गुणवत्ता का अनुश्रवण एवं मैपिंग योजना में हिण्डन बेसिन को चुना गया है। हिण्डन बेसिन में प्री-मानसून एवं पोस्ट मानसून अवधि के भूजल नमूनों को इकट्ठा करके भारतीय विष विज्ञान संस्थान द्वारा परीक्षण कराया गया है।

इन नमूनों के अध्ययन के अनुसार हिण्डन बेसिन के भूजल गुणवत्ता का समग्र आंकलन किया जा सकेगा। आंकलन की संस्तुतियों के आधार पर विभिन्न कार्यदायी विभाग पेयजल एवं कृषि उपयोग हेतु सुरक्षित जलापूर्ति के क्षेत्रों को चयनित कर सकेंगे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान