कृषि मंत्री कृषि विभाग उपलब्धियां गिनाईं


      प्रदेश के कृषि मंत्री एवं जनपद प्रभारी, श्री सूर्य प्रताप शाही ने आज इटावा के पुलिस लाइन में प्रेसवार्ता कर कृषि विभाग की योजनाओं में प्रदेश की भौतिक एवं वित्तीय प्रगति के साथ प्रदेश सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनान्तर्गत जनपद में 181721 किसानों को प्रथम किश्त, 169765 किसानों को द्वितीय किश्त, 158859 किसानों को तृतीय किश्त तथा 87390 किसानों को चतुर्थ किश्त उपलब्ध करायी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि इटावा जनपद में एक साल के अन्दर योजनान्तर्गत 11,95,47,000 रूपये की धनराशि से किसानों को लाभान्वित किया जा चुका है। इस प्रकार पूरे प्रदेश में 1.72 करोड़ किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजनान्तर्गत लाभान्वित किया जा चुका है।

      श्री शाही ने  कहा कि पूरे प्रदेश में किसी प्रकार की खाद एवं उर्वरक की कमी नहीं होने दी जायेगी। उन्होंने बताया कि जनपद के अन्तर्गत 40 सोलर पम्प स्थापना हेतु आवंटित किये गये थे, जिसके सापेक्ष 30 सोलर पम्प की स्थापना का कार्य पूर्ण किया जा चुका है।

      प्रभारी मंत्री ने बताया कि कृषि विभाग द्वारा 11 दिसम्बर 2019 तक 2638301 मै0टन की खरीद हेतु 4788 करोड़ रूपये में से 4600 करोड़ रूपये से अधिक का भुगतान किया जा चुका है। यह भी बताया कि धान क्रय केन्द्रों पर वृहद स्तर पर एमएसपी पर धान का क्रय किया जा रहा है, इसके लिये उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे क्रय केन्द्रों की रैण्डम चेकिंग करते रहें। उन्होंने कहा कि किसी भी किसान को अपना उत्पाद बेचने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए।

      उन्होंने बताया कि निराश्रित गोवंश के आश्रय हेतु जनपद इटावा में कान्हा उपवन का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कान्हा उपवन का निर्माण कार्य आगामी 31 जनवरी तक पूर्ण कराये जाने के निर्देश दिये गये हैं। अब तक जनपद में निराश्रित गोवंश के आश्रय हेतु 2.15 करोड़ रूपये की धनराशि व्यय की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि पशुपालन विभाग को निर्देश दिये गये हैं कि वे निराश्रित घूम रहे बछड़ों का बधियाकरण कराना सुनिश्चित करें।

      प्रभारी मंत्री ने कहा कि सरकार द्वारा आधार कार्ड से फीडिंग के साथ-साथ सीडिंग भी करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि जनपद के अन्तर्गत कुल 302897 राशन कार्ड के सापेक्ष 248882 की सीडिंग करायी जा चुकी है। उन्होंने कहा कि आगामी 15 जनवरी तक अवशेष की सीडिंग पूर्ण कराने के निर्देश दिये गये हैं। प्रेसवार्ता में उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना के अन्तर्गत जनपद में 128940 लाभार्थी चयनित किये गये हैं, जिसके सापेक्ष 67667 लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड का वितरण किया जा चुका है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे कैम्प लगाकर अवशेष लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड वितरित कराना सुनिश्चित करें। इस योजनान्तर्गत जनपद के 1753 लाभार्थियों का उपचार कराया गया है, जिसके सापेक्ष 1253 लोगों का लगभग 2.00 करोड़ रूपये की प्रतिपूर्ति भी करायी जा चुकी है।

     

 उन्होंने कहा कि हाल में हुयी बारिश से किसानों को काफी लाभ हुआ है, फिर भी आगामी 26 दिसम्बर से नहरों का संचालन प्रारम्भ करने के साथ ही टेल तक पानी पहुंचाने के निर्देश दिये गये हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान