बरेली में मजदूरों पर हाइड्रोक्लोराइड की बारिश, कई मजदूरों की आँखें हुई लाल, ये मजदूर दिल्ली और एन.सी.आर. से निकले थे।

दिल्ली और एनसीआर से निकाले गए मजदूरों पर बरेली में सैटेलाइट बस अड्डे पर हाइड्रोक्लोराइड की बारिश कर दी गई। कोरोना वायरस से बचाने के लिए नगर निगम की टीम ने मजदूरों के साथ उनके परिवार की महिलाओं और बच्चों को सड़क पर बैठाया। इसके बाद उन पर स्प्रे कर दिया। जिससे कई लोगों की आंखें लाल हो गई।


बरेली में सड़क पर अपने-अपने घरों की ओर जा रहे लोगों को सड़क पर बैठाकर सेनिटाइजर के छिड़काव के मामले में तूल पकड़ लिया है। ट्रैफिक पुलिस और फायर ब्रिगेड के स्टाफ ने बरेली से होकर गुजरने वाले बाहर के यात्रियों को बैठा कर उन्हें सैनिटाइज करने के लिए उन पर पीछे से स्प्रे किया था। यह मामला तूल पकड़ गया। इसे लेकर केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने भी डीएम से बात की।


कोरोना संकट की वजह से महानगरों को छोड़कर अपने घरों की ओर पलायन कर रहे मजदूरों की एक परेशान करने वाली तस्वीर सामने आई है। रेली में इन मजदूरों को बिठाकर इन पर सोडियम हाइपो क्लोराइड केमिकल का छिड़काव किया गया। इस केमिकल का इस्तेमाल इंसानों के सैनिटाइजेशन के लिए नहीं, बल्कि पानी की गंदगी दूर करने के लिए किया जाता है। छिड़काव करते ही इन मजदूरों की आंखों में जलन होने लगी। मजबूरी की वजह से ये लोग चुपचाप बैठे रहे। वीडियो सामने आने के बाद राजनीतिक दलों से लेकर आम लोगों ने इस घटना पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। डीएम के मुताबिक, कर्मचारियों ने अति सक्रियता के चलते यह कदम उठा लिया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य