नये बजट में किसानों को बीमा योजना का तोहफा  


उत्तर प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2020.21 का बजट पेश कर दिया है। इस बजट को यूपी के वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने पेश कियाण् सरकार ने 5ं12860,72 करोड़ का बजट इस वर्ष पेश किया है। ये पिछले वित्तीय वर्ष 2019-.20 के मुकाबले 33 हजार 159 करोड़ रुपए ज्यादा है। गौरतलब है कि ये यूपी के इतिहास का सबसे बड़ा बजट है। इस बजट को लेकर वित्त मंत्री सुरेश खन्ना का कहना है कि हमने जनता का दिल जीता है। तो वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा कि यूपी का 2020-21 बजट प्रधानमंत्री मोदी के 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी में उत्तर प्रदेश की भूमिका तय करने वाला है। यह बजट सभी वर्गों के उत्थान को ध्यान में रखते हुए लाया गया है। उन्होने आगे कहा अब केवल मूल किसान ही नहीं बल्कि बंटाई वाले किसान भी बीमा की योजना का लाभ ले सकते हैं। कभी दुर्घटना में अगर वह मृत हो जाता था तो उसके परिवार को कोई लाभ नहीं मिलता था, लेकिन इस बजट में यह प्रावधान किया गया है कि अब किष्त पर खेती करने वाले पट्टेदार अथवा बंटाईदार किसान भी दुर्घटना बीमा का लाथ प्राप्त कर सकेगे।
गन्नामूल्य में वृद्धि -


वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि गन्ना किसानों के लिए सरकार ने तोहफा दिया है,इसके लिए गन्ना की कीमत 325 रुपये प्रति क्विंटल करने का प्रस्ताव है।
मुख्यमंत्री किसान कल्याण बीमा योजना-बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण बीमा के नाम से नई योजना होगी। इसके लिए 500 करोड़ रुपये आवंटित हुए हैं,वहीं जीएसटी और वैट से 91,568 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान है।
निराश्रित महिलाओं के लिए पेंशन की सुविधा
वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के अंतर्गत मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए 1000 करोड़ की व्यवस्था है ।निराश्रित महिला पेंशन की योजना में 500 रुपये की धनराशि प्रतिमाह सीधे लाभार्थियों के खाते में जा रही है।इस योजना के अंतर्गत 1425 करोड़ की व्यवस्था है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान