22 दिनों भारतीय रेलवे ने 4.58 मिलियन टन खाद्यान्न की लदाई और ढुलाई की
 


भारतीय रेलवे ने कोविड-19 के कारण हुए देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान अपनी माल ढुलाई सेवाओं के माध्यम से खाद्यान्न जैसे आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने की दिशा में लगातार सभी प्रयास कर रहा है।


यह सुनिश्चित करने के लिए कि भारत के सभी घरों की रसोईयों में सामान्य तौर पर खाना पकता रहे, भारतीय रेलवे ने 22 अप्रैल 2020 को एक ही दिन में 112 रेकों में 3.13 लाख टन के बराबर खाद्यान की लदाई का रिकार्ड बनाया, जबकि खाद्यान्न लदाई का पिछला रिकॉर्ड 9 अप्रैल 2020 को 92 रेकों (2.57 लाख टन) और 14 अप्रैल 2020 तथा 18 अप्रैल 2020 को 89 रेकों (2.49 लाख टन) का था।


भारतीय रेलवे ने 01.04.2020 से लेकर 22.04.2020 तक कुल 4.58 मिलियन टन खाद्यान्न की लदाई और ढुलाई की, जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि के दौरान 1.82 मिलियन टन की लदाई व ढुलाई की गई थी।


यह सुनिश्चित करने का प्रयास किया जा रहा है कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान खाद्यान जैसे कृषि उत्पादों की समय पर लदाई की जाए और उसकी समय पर आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। लॉकडाउन अवधि के दौरान, इन आवश्यक वस्तुओं की लदाई, ढुलाई और उतराई पूरे जोरों पर है। कृषि मंत्रालय के साथ नजदीकी सहयोग को भी बनाए रखा जा रहा है।