गोरखपुर में घाघरा और कुआनो नदी के बीच का द्वारका वाले इलाके को अन्न की कटोरी कहा जाता रहा है ।


गोरखपुर में घाघरा और कुआनो नदी के बीच का द्वारका वाले इलाके को अन्न की कटोरी कहा जाता रहा है।यहां इस बार गेहूं की अच्छी पैदावार दिखाई पड़ रही है। बड़ी संख्या में किसान मशीनों के ज़रिए गेहूं कटाई के काम में लगे ।


कोविड -19 के प्रकोप के बावजूद उतर प्रदेश में इन दिनों गेहूं की कटाई का काम जोरो पर है । सरकारी खरीद केंद्रो पर गेहूं की खरीद का काम भी शुरु हो गया है। उतर प्रदेश में गेहूं का सरकारी समर्थन मूल्य 1925 रुपया खरीद केंद्रो पर किसानों की अनावश्यक भीड़ को रोकने के लिए आनलाइन टोकन व्यवस्था शुरु कर दी गयी है।जिला खाद्द विपड़न अधिकारी पंजीकृत किसानों को खरीद केंद्रों के टोकन जारी कर रहे है। किसानों को सात दिन का आनलाइन टोकन जारी किया रहा है।इसकी सूचना किसानों को उनके पंजीकृत मोबाईल नं. पर एसएमएस के जरिये दी जा रही है।किसानों को विभाग द्वारा एसएमएस करके बताया जा रहा है कि उन्हें किस तारीख को किस खरीद केंद्र पर जाना है। जिन किसानों ने अपना पंजीकरण नहीं कराया है वे भी किसान क्रय केंद्र पर जाकर वहां मौजूद प्रभारी से अपना आधारा कार्ड फोटो पहचान पत्र , बैंक पासबुक और खतौनी की प्रति देकर के अपना पंजीकरण करा सकते है।


     


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य