इंडियन ऑयल के टर्मिनल से निकलने से पहले टैंक-ट्रक का सैनिटाइज़ेश

एलपीजी वितरण एजेंसी से ग्राहक के पास पहुँचने के दौरान कोविड-19 की ऐडवाईज़री का पालन करते हुए एलपीजी डिलीवरी ब्वॉयज़!



                        जब भी देश पर कोई संकट आया है तो इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने हमेशा ऐसे अवसरों का डटकर  सामना किया है। चाहे यह संकट किसी प्राकृतिक आपदा के रूप में हो जैसे – बाढ़भूकम्पचक्रवातआदि या फिर मानवीय गतिविधियों से उत्पन्न होने वाली आपदाएँ जैसे कि आग लगनासामाजिक उपद्रव, शान्ति-भंग आदि। यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि इस प्रकार के संकटों से निपटने और इनपर काबू पाने में इंडियन ऑयल के सदस्य अपनी विलक्षण शक्ति का प्रदर्शन करते हैं।


                      कोरोना वायरस रोग के प्रकोप का मौजूदा संकट जिसे कोविड -19 के रूप में जाना जा रहा हैमहामारी के रूप में भारत के हाल के दिनों में सामने आयी सभी विपत्तियों से अलग है। इसके अलावापहले की आयी हुई विपत्तियाँ देश के सभी भागों में नहीं फैली थीं इसलिए स्थिति दूसरी थी। लेकिन इस बार इस महामारी ने अपने पैर पूरे देश में – और यहाँ तक कि भारत के बाहर अनेक देशों में भी फैला रखे हैं और इसीलिए समस्या और भी कठिन हो गई है।


                       श्री उत्तीय भट्टाचार्यकार्यकारी निदेशक और राज्य प्रमुख,  इंडियन ऑयल एवं उत्तर प्रदेश के तेल उद्योग के स्टेट लेवल कोऑर्डिनेटर,  श्री उत्तीय  भट्टाचार्य ने बताया कि इस बहु-आयामी चुनौतीपूर्ण स्थिति में सम्पूर्ण इंडियन ऑयल का कार्यबल – सभी सहकर्मी,  बहुत उच्च मनोबल रखकर अपने कर्त्तव्यों का पालन कर रहे हैंचाहे वह डिपोटर्मिनलएलपीजी बॉटलिंग प्लांट से हों या डिवीजन कार्यालयएलपीजी एरिया  कार्यालय या फिर इंडियन ऑयल के प्रशासनिक कार्यालयों से ही क्यों न हों। सभी निरन्तर इस कार्य में लगे हुए हैं कि पेट्रोल, डीज़ल और आज की लॉकडाउन की परिस्थितियों में सबसे ज़रूरी एलपीजी सिलेण्डरों की आपूर्ति जनता को बिना किसी बाधा के और बिना रुके की जा सके।


इसके अलावा इंडियनऑयल इस कोविड-19 वायरस को फैलने से रोकने के लिए भी सावधानी बरतने वाली कार्रवाई कर रहा है और इसके लिए उत्तर प्रदेश में सभी एलपीजी प्लांटटर्मिनलोंडिपो को नियमित अंतराल पर सैनिटाइज़ किया जा रहा है। इसके अलावा पेट्रोल पम्पों और एलपीजी वितरण के गोदामों को भी इस कोविड-19 वायरस के फैलने से रोकने के लिए सैनिटाइज़ किया जा रहा है।


                           कस्टमर-अटेंडेंट्स भी पेट्रोल पम्पों पर ग्राहक को पेट्रोल और डीजल का वितरण करते समय सामाजिक दूरी का ध्यान रखे हुए हैं और इसका पालन कर रहे हैं। इसी प्रकार एलपीजी डिलीवरी ब्वॉयज़ भी एलपीजी सिलेण्डरों की निर्बाध आपूर्ति बनाए रखने के लिए अत्यधिक श्रम कर रहे हैं और साहस का परिचय भी दे रहे हैं। इसके लिए कोविड-19 की ऐडवाईज़री के अनुसार उन्हें एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर्स के द्वारा सावधानी रखने वाला भी प्रशिक्षण दिया गया है।


                       श्री भट्टाचार्य ने कहा कि इंडियन ऑयल के अधिकारियोंकर्मचारियों और इंडियन ऑयल के विस्तारित (एक्सटेंडेड) कर्मचारियों के इस सामूहिक प्रयास और साथ ही हमारे पेट्रोल पम्प के डीलरोंप्रबन्धकों, एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटरोंट्रांसपोर्टरोंकस्टमर-  अटेंडेंट्सएलपीजी डिलीवरी ब्वॉयज़टैंक-ट्रक ड्राइवर्स और सफाईकर्मी, सभी इस जोखिम भरे समय में राष्ट्र के लिए असाधारण सेवा कर रहे हैं। हम न केवल एलपीजी सिलेण्डरों की आपूर्ति को निरन्तर बनाए रख रहे हैंबल्कि नागरिकों के स्वास्थ्य का भी ध्यान रख रहे हैंताकि नागरिकों को घर पर रहकर ही सिलेण्डरों की आपूर्ति मिले और उन्हें इसके लिए घर से बाहर जाने की आवश्यकता न पड़े, जो कि आज के इस कठिन समय से उबरने का सबसे सशक्त कदम है कि हम घर पर ही रहें।श्री भट्टाचार्य ने कहा कि  आज की इन कठिन परिस्थितियों में इंडियन ऑयल ने साबित कर दिया है कि हम "पहले इंडियन फिर ऑयल" हैं। उन्होंने यह  सुनिश्चित किया कि इंडियन ऑयल अपेक्षित सैनिटाइजिंग के साथ पूरे उत्तर प्रदेश में पेट्रोलडीजल के साथ सीएनजी और विशेष रूप से एलपीजी सिलेण्डरों की आपूर्ति जारी रखेगा।


 


 


 


 


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य