खाते में पैसा पाकर खुश हुई महिलायें !



कोविड-19 के कारण पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है ।एसे में सभी के जीवन में बदलाव आया है । लॉक डाउन के चलते गरीब  लोगों के माथे पर चिंता की लकीरे देखने को मिल रही थी पर ऐसे में गरीब लोगों के लिए उम्मीद की किरण बनकर आया प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज जिसमें जनधन  खातों में महिला लाभार्थियों को 500 रुपये  मिले । यह धनराशि सीधे उनके बैंक अकाउंट में आई जिससे महिला खाता धारकों ने राहत की सांस ली। योजना की घोषणा के बाद जब 500 रुपये महिलाओं के खाते में आए तो जाहिर है महिलाएं बैंकों की ओर दौड़ी और वहां लंबी-लंबी कतारें लग गई ।कोरोनावायरस से जूझ रहे प्रशासन के लिए यह लाइनें परेशानी का सबब बनने लगी पर प्रशासन ,पुलिस और बैंकों ने संयम दिखाते हुए इन लाइनों में सामाजिक दूरी बनाने के लिए बैंकों के बाहर गोले बनवाए जिससे महिला लाभार्थियों को उन में खड़ा किया जा सके।इस बीच एक अफवाह यह सामने आयी कि यदि पैसे जल्दी नहीं निकाले गए तो सरकार इन्हें वापस ले लेगी । बैंकों द्वारा लोगों को यह समझाया गया कि यह आपके पैसे हैं इन्हें कोई दूसरा इस्तेमाल नहीं कर सकता । आप अपनी सुविधा से अपने पैसे की निकाषी कर सकती है।
बात अगर मेरठ की करें तो यहां भी  प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत खाताधारक महिलाओं के खाते में 500 रुपये केंद्र सरकार की तरफ से गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत भेजे गए हैं। । लीड बैंक मैनेजर संजय कुमार ने बताया कि मेरठ जिले में जनधन खातों की संख्या 8 लाख से भी अधिक  है जिसमें 3 लाख से ज्यादा महिलाएं शामिल हैं जिनके खातों में केंद्र सरकार की ओर से 500 रुपये आ गए हैं जिससे उनकी जरूरतें पूरी हो सकें। संजय कुमार ने स्वयं जाकर बैंकों का निरीक्षण किया और बैंकों को दिशा निर्देश दिए कि वह सभी बैंकों में सामाजिक दूरी बनाए रखें ।खाताधारकों उपभोक्ताओं को बैंक में प्रवेश से पहले उनके हाथ सैनिटाइज कराए जाएं और अंदर जाने के बाद भी सामाजिक दूरी का ध्यान रखा जाए ।उन्होंने बताया कि बैंक कर्मी स्वयं मास्क लगाकर और ग्लब्स पहनकर कार्य कर रहे और पैसे निकालने में महिला खातधारकों का पूरा सहयोग कर रहे हैं। बैंकों में पहुंची महिला खाताधारकों के चेहरे पर एक सुकून देखने को मिला ।वह बैंकों की किताब के साथ-साथ आधार कार्ड लेकर पहुंची  ।बैंकों के प्रवेश द्वार पर ही उनके हाथ सैनिटाइज कराए गए। बैंक कर्मियों ने भी पैसे निकालने में उनका पूरा सहयोग किया ।महिलाओं से बात करने पर उन्होंने बताया कि पहली बार हमारे खाते में इस तरह से केंद्र सरकार द्वारा पैसे आए हैं ।उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया और कहा कि यह पैसे वह अपने बच्चों और अपने परिवार के लिए ज़रुरी सामान खरीदने में इस्तेमाल करेंगी। उन्होंने सरकार  का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री की वजह से इस लॉक डाउन  में कोरोना वायरस महामारी के चलते हमें किसी तरीके की दिक्कत का सामना नही करना पड़ेगा