किसानों को खाद, बीज, उर्वरक व उपज सहित कटाई-मड़ाई आदि कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग साथ कार्य करने की दी गई सुविधा !


अपर मुख्य सचिव श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि कोविड-19 के सम्बंध में पूरे प्रदेश में अब तक 3791 अस्थायी स्क्रीनिंग कैम्प एवं आश्रय स्थल बनाये गये हैं जिसमें 105289 लोग रह रहे हैं। इन आश्रय स्थलों पर बेड, पेयजल, भोजन, सेनेटाइजर, साबुन, शौचालय एवं चिकित्सीय सुविधा आदि की व्यवस्था की गयी है, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लाॅक डाउन की अवधि में राजस्व विभाग द्वारा आवश्यक वस्तुओं एवं सेवाओं की आपूर्ति करने वाली सूचीबद्ध संस्थाओं के लिए ई-पास जारी किये जा रहे हैं। ई-पास प्राप्त करने हेतु राहत आयुक्त कार्यालय की वेबसाइट-rahat.up.nic.in पर ऑनलाइन फार्म का लिंक ऑपरेशनल कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों को खाद, बीज, उर्वरक व उपज सहित कटाई-मड़ाई आदि कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए सुविधा दी गई है। सरकार ने कृषि एवं सहवर्ती उपकरणों की दुकान, सर्विस सेंटर, स्पेयर पार्ट्स की दुकानों को यथा आवश्यक किसानों की सुविधा के अनुरूप कस्बों में खोलने एवं टेक्निशियनों के आवागमन के लिए सुविधा प्रदान की है।