नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड किसानों को यूरिया की निर्बाध आपूर्ति कर रही है ।

कोविड-19 के कारण राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बावजूद नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड-एनएफएल सौ प्रतिशत से अधिक उत्पादन क्षमता के साथ कृषक समुदाय के लिए उर्वरकों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित कर रही है। 


रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के उर्वरक विभाग के अधीन एक अग्रणी उर्वरक कंपनी नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड –एनएफएल, कोविड-19 की वजह से राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बावजूद किसानों के लिए उर्वरकों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित कर रही है।


एनएफएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री मनोज मिश्रा ने बताया कि एनएफएल के नांगल, बठिंडा, पानीपत में और विजईपुर संयंत्रों की दो इकाइयों में उत्पादन का काम तेजी से चल रहा है। ये पांच संयंत्र प्रतिदिन 11 हजार मीट्रिक टन से अधिक उर्वरकों का उत्पादन कर रहे हैं और इन्हें नियमित रूप से बाजार में भेजा जा रहा है।


 एनएफएल द्वारा बेहद मुश्किल समय में भी इन सयंत्रों में अधिकतम उत्पादन जारी रखना विशेष रूप से देश के कृषक समुदाय के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में एक बड़ी सफलता है।


 भारत सरकार ने आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत देश में उर्वरक सयंत्रों के संचालन की अनुमति दी है ताकि कृषि क्षेत्र को लॉकडाउन के प्रभाव से बचाया जा सके और उसे आगामी खरीफ के मौसम के लिए पर्याप्त मात्रा में उर्वरक उपलब्ध


माल लादने और उतारने की गतिविधियों के बीच कोविड-19 से बचाव के लिए संयत्रों में  पर्याप्त सावधानियां बरती जा रही हैं। कोविड के फैलाव के खिलाफ निवारक उपाय सुनिश्चित करने के लिए सभी इकाइयों में एक विशेष कार्यबल का गठन किया गया है। संयंत्र परिसरों में काम करने वाले मजदूरों और अन्य सभी कर्मचारियों को मास्क प्रदान किए गए हैं और यह भी सुनिश्चित किया गया है कि सभी अपने हाथ बार-बार साबुन से धोएं तथा सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियमों का पूरी तरह से पालन करें। 


एनएफएल और इसके कर्मचारी जरूरतमंद लोगों को भोजन और दवाओं जैसी आवश्यक वस्तुओं के वितरण में सक्रिय भाग लेकर कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने में सरकार की मदद कर रहे हैं। उन्होंने पीएम केयर्स कोष में अपने एक महीने के वेतन का योगदान दिया है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य