प्रदेश में अब तक 3335 मरीज उपचारित होकर पहुंचे घर


प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश के 73 जनपदों में 2332 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 3335 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कल 836 पूल टेस्ट किये गये, जिसमें 143 पूल पाॅजीटिव पाये गये। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु अलर्ट जनरेट होने पर लोगों को कन्ट्रोल रूम से काॅल किया जा रहा है। अब तक कुल 30,994 लोगों को फोन कर उनके स्वास्थ्य के बारे में  जानकारी ली गयी है। उन्होंने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा प्रवासी कामगारों,श्रमिकों के घर पर जाकर सम्पर्क कर उनके लक्षणों का परीक्षण कर रही हैं, जिसके आधार पर आवश्यकतानुसार प्रवासी कामगारों,श्रमिकों का सैम्पल इकट्ठा कर जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 7,44,821 प्रवासी कामगारों,श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया। उन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक 89,131 निगरानी समिति के माध्यम से 70,85,368 घरों में रह रहे 3,54,83,704 लोगों से सम्पर्क किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सरकारी अस्पतालों द्वारा इमरजेन्सी सेवाएं दी जा रही हैं लेकिन2500 से अधिक निजी चिकित्सालयों में इमरजेन्सी सेवाएं प्रारम्भ हो गई हैं। उन्होंने बताया कि टीकाकरण का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। कोविड वाॅलण्टियर्स के रूप में एनएसएस, एनसीसी, नेहरू युवक मंगल दल के युवक,युवतियों को जोड़ा जा रहा है। उन्होंने बताया कि 25 मई से प्रारम्भ होने वाली घरेलू उड़ानों हेतु यात्रियों के लिए शीघ्र गाईडलाइन जारी की जायेगी