सेनेटाईजर का उत्पादन प्रदेश में युद्ध स्तर पर


प्रमुख सचिव, उत्तर प्रदेश शासन आबकारी विभाग श्री संजय आर. भूसरेड्डी द्वारा बताया गया कि नोवेल कारोना वाइरस की रोक-थाम हेतु आवश्यक सेनटाइजर का उत्पादन प्रदेश में युद्ध स्तर पर किया जा रहा है । राज्य सरकार के निर्देशानुसार प्रदेश में स्थापित चीनी मिलों सह आसवनियों एवं ड्रग अनुज्ञापन धारकों को हैण्ड सेनटाइजर निर्माण हेतु एफ0एल-41 अनुज्ञापन त्वरित गति से प्रदान किये गये हैं। प्रदेश में अद्यतन 27 चीनी मिल सह-आसवनियों, 12 केवल आसवनियों व 46 अन्य इकाईयों को एफ0एल0-41 अनुज्ञापन प्रदान किये जा चुके है।

प्रदेश में कुल-85 इकाईयों में दिनांक-30.04.2020 तक 35,99,242.38लीटर का उत्पादन हो चुका है, जिसमें से लगभग 14.50 लाख लीटर की आपूर्ति देश के अन्य राज्यों को की जा चुकी हैं। इन राज्यों में दिल्ली को 2,46,004ली., महाराष्ट्र को 2,89,350ली., हरियाणा को 4,11,445ली., पंजाब को 30,095ली., उत्तराखण्ड को 66,644ली., तामिलनाडू को 25,898ली., कर्नाटक को 71,510ली., मध्य प्रदेश को 18,916ली., बिहार को 28,710ली. असम को 22,606ली. ओडिसा को 12,805 ली., राजस्थान को 25,543ली., मेघालय को 9899ली., केरल को 2545ली., झारखण्ड को 13,751ली. चण्डीगढ़ को 2,765ली., छत्तीसगढ़ को 3,254ली., गुजरात को 59,637ली., जम्मू एवं कश्मीर को 3,705ली. तेलंगाना को 12,726ली., पश्चिम बंगाल को 23,016ली., दादर व नागर हवैली को 60,000ली. तथा नागालैण्ड को 620ली. हैण्ड सेनटाइजर की आपूर्ति की गयी है ।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान