उत्तर  प्रदेश में 3 मई  रात्रि से 6 मई के बीच मौसम रहेगा परिवर्तनशील


उत्तर  प्रदेश में 7 मई तक  मौसम परिवर्तनशील रहने परन्तु पश्चिमीविक्षोभ एवं क्षेत्रीय चक्रवात के प्रभाव के कारण 3 मई  रात्रि से 6 मई के बीच बीच में राज्य में बादल व  मध्यम से तेज गति से हवाएं चलने व गरज चमक के साथ  कहीं -कहीं हल्की से मध्यम बारिश की  संभावना ।
मौसम आधारित कृषि सलाह:-
1. बारीश की संभावना को देखते हुए  कीटनाशी का छिडकाव 7 मई तक रोक लें।
2. फसलों की कटाई, कढाई करते समय बदलते मौसम का ध्यान रखे तथा कटाई मडाई जल्दी से जल्दी पूरी करे ।
3. गेहूं की कटाई उपरांत बंडल अवश्य बांधे ताकि तेज हवा चलने से बिखर न सके।
3.भूसा को अच्छी प्रकार से ढके ताकि  हवाएं चलने पर उड़ न सके तथा बारिश होने पर न भीगे।
4. कटी हुई फसल व कढाई उपरांत अनाज  को सुरक्षित स्थान पर अवश्य रखे।
5. बारिश की संभावना को देखते हुए किसान भाइयों को सलाह दी जाती है कि गेहूं, चना व सरसों मंडी ले जाते समय तिरपाल आदि का प्रबंध अपने साथ अवश्य रखे।
अन्य सलाह:-
1. कोरेना से रक्षात्मक बचाव  के लिए कटाई कढाई व मंडी में मास्क लगाए व एक दूसरे से दूरी बनाकर रखे तथा साबुन व सेनेटाइजर से बार बार हाथ धोए।
2. फसल कटाई उपरांत गेहूं के अवशेषों  को न जलाए ।
 रीपर से भूसा बनाये या अन्य मशीनों से अवशेषों को भूमि में दबाए तथा उर्वरा शक्ति को बढ़ाये। 


कृषि मौसम विज्ञान विभाग । चन्द्र शेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय कानपुर


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान