बुजुर्गों की सेवा मेहनत, ईमानदारी व निष्ठा से करनी चाहिए


प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री ने कहा कि बुजुर्ग इस देश की धरोहर हैं। वे हमारे लिए पूजनीय हैं। इनका मार्गदर्शन व आशीर्वाद प्राप्त कर हमारी युवा पीढ़ी अपने जीवन को सवांरने के साथ ही देश व समाज को भी विकास की सर्वोच्च ऊँचाइयों तक ले जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि दादा-दादी, नाना-नानी तथा माता-पिता का सम्मान सभी लोगों को करना चाहिए।  बुजुर्गो की सेवा मेहनत, ईमानदारी व पूर्ण निष्ठा से करनी चाहिए।
श्री शास्त्री आज यहाँ होटल ग्रैण्ड जेबीआर गोमतीनगर में दादा-दादी फाउण्डसेन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए यह विचार व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से बचाव हेतु मास्क, सेनेटाइजर, व साबुन से बार-बार हाथ धोना चाहिए तथा सामाजिक दूरी का पालन भी किया जाए, जिससे संक्रमण से बचाव हो सके।
श्री शास्त्री ने बताया कि समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित वृद्धावस्था पेंशन योजना के अन्तर्गत 49 लाख 87 हजार से अधिक वृद्धाजनों को पेंशन देकर लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि उ0प्र0 माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण-पोषण एवं वृद्धाश्रम का संचालन किया जा रहा है। वृद्धाश्रम में वृद्धाजनों को सम्मान व आदर सहित वृद्धाश्रम मे निःशुल्क भोजन, आवास, वस़्त्र औषधि, मनोरंजन आदि के अतिरिक्त स्वच्छ पेयजल आदि सुविधायें उपलब्ध करायी जा रही है। श्री शास्त्री ने बताया कि वर्तमान सरकार द्वारा आम जनता के हित के लिए विभिन्न योजनायें संचालित कर लाभान्वित किये जाने का काम किया जा रहा है।
दादा-दादी फाउण्डेशन के निदेशक श्री मुनि शंकर ने बताया कि दादा-दादी फाउण्डेशन वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण व सहायता के लिए विभिन्न गतिविधियां संचालित की जा रही है। उन्होंने बताया कि वरिष्ठ नागरिकों को वृद्धजनों को निःशुल्क स्वस्थ्य सम्बधी परामर्श तथा स्वस्थ प्रबन्धन एवं स्वच्छता के बारे मंे जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा वरिष्ठ नागरिकों को उनकी बचत की धनराशि का समुचित उपाय किये जाने तथा आर्थिक सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं के  बारे में बताया जाता है। निदेशक ने यह भी बताया कि वरिष्ठ नागरिक को निःशुल्क विधिक सहायता उपलब्ध करायी जाती है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य