बसपा में बड़ा सांगठनिक बदलाव


बसपा में सांगठनिक पदों पर प्राय: दलित समुदाय के‌ लोगों को तरजीह दी जाती है जबकि ‌मलाईदार पदों की बिक्री का खुलेआम आरोप लगाया जाता है और ऐसे पदों से हटाये जाने पर निष्कासित नेताओं द्वारा इसे सिद्ध करने का प्रयास भी किया जाता है। सांगठनिक पदों पर समय समय फेरबदल भी होता रहता है। 


    बसपा सुप्रीमो मायावती ने फिर से बड़ा सांगठनिक बदलाव किया है।


 


उन्होंने प्रदेश के कई मंडलों के मुख्य सेक्टर प्रभारियों और जिला प्रभारियों के दायित्वों मेंबदलाव किया है।


 


लखनऊ मंडल में मुख्य सेक्टर प्रभारी की जिम्मेदारी निभा रहे भीमराव अंबेडकर हटाकर प्रयागराज मंडल की जिम्मेदारी दी गयी


 


लखनऊ मंडल सेक्टर में


मुख्य सेक्टर प्रभारी अशोक सिद्धार्थ, डा. रामकुमार कुरील, नौशाद अली, डा. विनोद भारती और विनय कश्यप को जिम्मेदारी दी गयी


 


लखनऊ जिला : गंगाराम गौतम, शैलेंद्र गौतम, रामनाथ रावत


 


रायबरेली: हरीश सैलानी, बीडी सुमन, विजय गौतम


 


हरदोई: रणधीर बहादुर, मेवालाल वर्मा, राकेश कुमार गौतम


 


लखीमपुर खीरी: उमाशंकर गौतम व अमरीश गौतम,


 


सीतापुर: चंद्रिका प्रसाद गौतम, राममूर्ति मधुकर और सोवरन गौतम


 


उन्नाव: डा. सुशील कुमार उर्फ मुन्ना व ओमप्रकाश गौतम


 


प्रयागराज मंडल में भीमराव अंबेडकर, अशोक कुमार गौतम, अमरेंद्र बहादुर पासी, दीपचंद्र गौतम और डा. जगन्नाथ पाल 


 


मिर्जापुर मंडल में  भीमराव अंबेडकर, अशोक कुमार गौतम, अमरेंद्र बहादुर पासी, गुड्डू राम, सुबोध राम


 


मेरठ मंडल में अतर सिंह राव एमएलसी, प्रदीप जाटव एमएलसी, सतपाल सेतला, सोहन वीर जाटव


बसपा संगठन में इन पदों का आर्थिक महत्व भले ही कम हो बसपा सुप्रीमो इन पदों पर अपने भरोसमंद लोगों को ही बिठालती हैं। इन लोगों की रिपोर्ट पर ही मलाईदार ओर बिकाऊ पदों पर बैठे लोगों की विश्वसनीयता का प्रमाणपत्र मिलता है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य