नौ सू़त्रीय गन्ना विकास कार्यक्रम से बढ़ेंगी गन्ने की उत्पादकता


उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य से गन्ना विकास विभाग नौ सू़त्रीय गन्ना विकास कार्यक्रम का क्रियान्वयन कर गन्ने की उत्पादकता में वृद्धि और उत्पादन लागत में कमी लाने का प्रयास कर रहा है।
यह जानकारी देते हुए आयुक्त गन्ना एवं चीनी उद्योग  ने बताया कि इस कार्यक्रम के अन्तर्गत वर्ष 2022 तक गन्ना किसानों की आमदनी दोगुनी किये जाने हेतु गन्ना विकास विभाग द्वारा प्रदेश के गन्ना किसानों एवं चीनी उद्योग पर केंद्रित कार्यक्रम पर आधारित 09 सूत्रीय कार्ययोजना शुरू की गई है।
उन्होंने  बताया कि इस कार्ययोजना में गन्ने की उत्पादकता में वृद्धि करना, गन्ने की उत्पादन लागत में कमी करना, प्रशिक्षण के माध्यम से वैज्ञानिक संस्तुतियों को कृषकों तक पहुॅचाना, गन्ना विपणन और गन्ना मूल्य भुगतान, त्वरित गन्ना ढुलाई हेतु सुगम यातायात की व्यवस्था करना, चीनी उद्योग का सुदृढ़ीकरण, पर्यावरण सुरक्षा, गन्ना शोध और परम्परागत खेती को बढ़ावा देना जैसे कार्यक्रम शामिल किये गये हैं।
उन्होंने बताया कि इन कार्ययोजनाओं के परिणाम स्वरूप गन्ने की औसत उत्पादकता 72.38 से बढ़कर 81.10 टन प्रति हेक्टेयर हो गई है। इसके साथ ही उत्पादकता में प्रति हेक्टेयर 8.72 टन प्रति हेक्टेयर वृद्धि होने के फलस्वरूप गन्ना किसानों की औसत आमदनी में लगभग 27,904 रूपये की वृद्धि हुई है।