15 फरवरी, 2021 तक चलाया जायेगा प्रदेश में वरासत अभियान

उत्तर प्रदेश के राजस्व परिषद के अध्यक्ष ने आज वरासत अभियान की प्रगति के संबंध में प्रदेश के समस्त मंडलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों से वीडियों कान्फे्रसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की। उन्होंने समीक्षा बैठक में जिन जनपदों की प्रगति मानक के अनुरुप नहीं पायी गयी, उन जनपदों के अधिकारियों से असंतोष प्रकट करते हुए, त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिये गये।  परिषद के अध्यक्ष  ने बताया कि प्रदेश के समस्त ग्रामों में निर्विवाद उत्तराधिकारियों को खतौनियों में दर्ज कराये जाने हेतु वरासत अभियान 15 दिसम्बर, 2020 से 15 फरवरी, 2021 तक चलाया जा रहा है । प्रदेश में वरासत अभियान के अन्तर्गत अब तक कुल 3,22,176 आवेदन ऑनलाइन दर्ज किये गये हैं।

 परिषद के अध्यक्ष  ने समस्त मंडलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों से कहा है कि जनपद में दर्ज व निस्तारित होने वाले वरासत प्रकरणों का नियमित अनुश्रवण करे तथा यह भी सुनिश्चित करें  कि कोई भी वरासत प्रकरण किसी भी स्तर पर समय सीमा के उपरान्त लम्बित न रहे। उन्होंने कहा कि वरासत के प्रकरणों में समय से कार्यवाही की जाए जिससें कोई विधिक उत्तराधिकारी अपने उत्तराधिकार से वंचित न रहें