देश में एविएन फ्लू की स्थिति


मुर्गियों के लिए 9 राज्यों ( केरलहरियाणामध्य प्रदेश महाराष्ट्र छत्तीसगढ़उत्तराखंडगुजरातउत्तर प्रदेश और पंजाब ) में और कौओं / प्रवासी / जंगली पक्षियों के लिए 12 राज्यों (मध्य प्रदेशहरियाणामहाराष्ट्रछत्तीसगढ़हिमाचल प्रदेशगुजरातउत्तर प्रदेशउत्तराखंडदिल्लीराजस्थानजम्मू व कश्मीर और पंजाब) में एविएन फ्लू (बर्ड फ्लू) के प्रकोप की पुष्टि हो गई है।

बहरहाल, उत्‍तराखंड के रुद्रप्रयागलैंसडौन वन क्षेत्र तथा पौडी वन क्षेत्र से प्राप्‍त कौओं/कबूतर के नमूनेराजस्‍थान के श्रीगंगा नगर जिले से मिले कबूतर के नमूनेउत्‍तर प्रदेश के फतेहपुर जिले से प्राप्‍त कौओं तथा मोर के नमूने एविएन फ्लू के लिए नेगेटिव पाए गए हैं।

महाराष्‍ट्र, मध्‍यप्रदेश, छत्‍तीसगढ़पंजाबउत्‍तर प्रदेशगुजरात और उत्‍तराखंड तथा केरल के प्रभावित क्षेत्रों में नियंत्रण और रोकथाम की कार्रवाई (स्‍वच्‍छता और विसंक्रमण) की जा रही है।

 उन किसानों को क्षतिपूर्ति का भुगतान किया जा रहा है जिनकी मुर्गियोंअंडों तथा पोल्‍ट्री फीड को कार्य योजना के अनुसार राज्‍य द्वारा नष्‍ट/निपटान किया जाता है। भारत सरकार का पशुपालन एवं डेयरी विभाग (डीएएचडी) अपनी एलएच एवं डीसी स्‍कीम के एएससीएडी घटक के तहत 50:50 साझा आधार पर राज्‍यों/केन्‍द्र शासित प्रदेशों को फंड उपलब्‍ध कराता है।         

सभी राज्य एविएन फ्लू पर तैयारीनियंत्रण और रोकथाम के लिए संशोधित कार्य योजना2021 के आधार पर सभी राज्यों/संघ शासित क्षेत्रों द्वारा अपनाए गए नियंत्रण उपायों के संबंध में प्रतिदिन विभाग को सूचनाएं दे रहे हैं।

 विभाग सोशल मीडिया (ट्विटरफेसबुक हैंडल्स) सहित कई प्लेटफॉर्म्स के माध्यम से एआई के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है।