आगामी रबी फसल में वृद्धि की संभावना

 उत्तर प्रदेश के कृषि, कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री,  ने बताया कि खरीफ फसलों के उत्पादन में गत् वर्ष 2019-20 की तुलना में वर्तमान वर्ष 2020-21 में वृद्धि दर्ज की गयी है। गत् वर्ष की तुलना में इस वर्ष 3.81 लाख मी0टन अधिक अनाज उत्पादन रहा, जबकि कुल खाद्यान्न उत्पादन गत् वर्ष की तुलना में 4.51 लाख मी0टन अधिक हुआ है। उन्होंने बताया कि दलहन एवं तिलहन उत्पादन में भी गत् वर्ष की तुलना में वृद्धि दर्ज की गयी है।

 
कोविड-2019 की विषम परिस्थितियों के बावजूद भी खरीफ फसलों के उत्पादन में वृद्धि के लिए कृषकों को बधाई देते हुये कृषि वैज्ञानिकों के प्रयासों को भी सराहा। उन्होंने खाद्यान्न उत्पादन में वृद्धि का श्रेय कृषकों के अथक परिश्रम को दिया। उन्होंने बताया कि वर्तमान वर्ष में 214.39 लाख मी0टन खाद्यान्न उत्पादन हुआ, जबकि गत् वर्ष 209.88 लाख मी0टन खाद्यान्न उत्पादन हुआ था। इस वर्ष 211.42 लाख मी0टन अनाज उत्पादन सुनिश्चित किया गया, जो कि गत्् वर्ष 207.61 लाख मी0टन था। इसके अन्तर्गत इस वर्ष चावल 171.36 लाख मी0टन, ज्वार 2.31 लाख मी0टन, बाजरा 21.3 लाख मी0टन, मक्का 16.36 लाख मी0टन एवं 0.09 लाख मी0टन छोटा बाजरा का उत्पादन किया गया है।
कृषि मंत्री ने बताया कि प्रदेश में दलहन में गत वर्ष की तुलना में कुल 0.70 लाख मी0टन की वृद्धि दर्ज करते हुये उड़द 2.82 लाख मी0टन एवं मूंग 0.15 लाख मी0टन का उत्पादन किया गया है। इसी प्रकार तिलहन में कुल 0.82 लाख मी0टन की वृद्धि के साथ तिल 0.98 लाख मी0टन, मूंगफली 1.10 लाख मी0टन एवं सोयाबीन 0.39 लाख मी0टन का उत्पादन किया गया है। उन्होंने आगामी रबी फसल में भी अच्छी वृद्धि की संभावना जताई है।