स्कूल का खरीदो मास्क वर्ना क्लास में नो इंट्री


निजी स्कूलों की मनमानी आई सामने, बोले- स्कूल का खरीदो मास्क वर्ना क्लास में नो इंट्री, कोविड-19 के कारण मौजूदा सत्र में स्कूल बंद होने से ड्रेस व कॉपी-किताब से कमाई न हुई तो निजी स्कूलों ने मास्क पर जोर देना शुरू कर दिया। तमाम स्कूलों ने स्कूल के नाम व लोगो वाले मास्क को ही पहनकर आने के हुकुम जारी कर दिए हैं। यह बात भी सामने आ रही है कि कुछ स्कूलों ने ऐसा न करने पर बच्चों को प्रवेश न देने की भी चेतावनी दी है। इसे लेकर अभिभावकों ने नाराजगी भी जाहिर की है। उनका कहना है कि बच्चों की सुरक्षा को लेकर अभिभावक खुद ही सतर्क हैं, ऐसे में स्कूलों ने मास्क को लेकर पैसा वसूलने का तरीका निकाला है। अभिभावकों ने जिला विद्यालय निरीक्षक से मामले की शिकायत की है। बता दें , कोरोना संक्रमण के चलते शहर के अधिकांश स्कूल बंद हैं। दसवीं व बारहवीं के बच्चों का बोर्ड होने के कारण उनके लिए 19 अक्टूबर माह में खोला गया था। इसी क्रम में कुछ स्कूलों ने 9वीं व 11वीं की कक्षाएं 26 अक्टूबर और पहली नवंबर से शुरू कर दी थी। इस दौरान कोरोना को लेकर शासन की ओर से एसओपी में हर बच्चे को मास्क पहनकर जाना अनिवार्य है। इसे लेकर निजी स्कूलों ने बच्चों पर स्कूल का नाम व लोगो छपा मास्क पहनने का दबाव बनाना शुरू कर दिया।