अब डाक्टर करेंगे मरीजों संस्कृत में भी बात

 


लखनऊ,  मरीजों का इलाज करने वाले डाक्टर अब संस्कृत में भी आपस में बात करते नजर आएंगे। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) की ओर से दूरस्थ शिक्षा में शुरू किए गए एमए संस्कृत के कोर्स में इस बार एसजीपीजीआइ के 20 डाक्टरों ने प्रवेश लेने में रुचि दिखाई है। अगले सप्ताह से उनकी ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इसका पूरा कोर्स भी तैयार है। इग्नू के सहायक क्षेत्रीय निदेशक डा. कीर्ति विक्रम सिंह ने बताया कि बीते जुलाई-2020 में विश्वविद्यालय ने एमए संस्कृत का नया कोर्स शुरू किया था। ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया के माध्यम से लखनऊ में इस कोर्स को पढ़ने के लिए सबसे ज्यादा रुचि डाक्टरों ने दिखाई। संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआइ) के 20 डाक्टरों ने प्रवेश लिया है। लेकिन कोविड की वजह से अब तक पढ़ाई नहीं शुरू हो पाई। हालांकि अब विश्वविद्यालय ने विचार किया है कि अगले सप्ताह से एमए संस्कृत की आनलाइन कक्षाएं शुरू करा दी जाएं।  से 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य