नौ महीने से बंद पैसेंजर गाड़ियों को फरवरी से चलाने की तैयारियां

लखनऊ कोरोना के चलते करीब नौ महीने से बंद पैसेंजर गाड़ियों को फरवरी से चलाने की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। इससे राजधानी लखनऊ से कानपुर, सीतापुर, बाराबंकी, हरदोई, शाहजहांपुर सहित अन्य रूटों के करीब 45 हजार यात्रियों को राहत मिलेगी।उत्तर रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक संजय त्रिपाठी ने बताया कि कोरोना वैक्सीन आने के बाद धीरे-धीरे स्थितियों में सुधार हो सकता है। इसे देखते हुए पैसेंजर ट्रेनों के संचालन पर भी मंथन शुरू हो गया है। तैयारियां की जा रही हैं।

इन रूटों का है प्रस्ताव

* लखनऊ से सीतापुर के लिए पैसेंजर ट्रेन

* लखनऊ से कानपुर के बीच मेमू

* सहारनपुर के लिए पैसेंजर गाड़ी

* गोंडा के लिए पैसेंजर ट्रेन

* वाराणसी के लिए इंटरसिटी

* बाराबंकी के लिए मेमू ट्रेन

करीब 45 हजार यात्रियों को मिलेगी राहत

रूट -- यात्री

लखनऊ-कानपुर -- 34000

लखनऊ-हरदोई -- 3000

लखनऊ-सुल्तानपुर -- 1500

लखनऊ-बाराबंकी -- 1500

लखनऊ-सीतापुर -- 5000