यू0पी0 बनेगा देश का जल आत्मनिर्भर प्रदेश


भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने जल आत्मनिर्भर देश बनाने का आह्वान किया है। इसी दिशा में हर घर नल से जल योजना और गांव के जल स्रोतों को पुनर्जीवित कर उनसे समूचे गांव को जल आत्मनिर्भर बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के प्रयासों से उत्तर प्रदेश राज्य जल आत्मनिर्भर होगा। इसके लिए कानूनी प्रावधान किए जा रहे हैं और हर गांव को जोड़ा जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के जल शक्ति मंत्री श्री डॉ महेन्द्र सिंह ने  जल प्रहरी समारोह के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अमेय साठे, संयोजक अनिल सिंह व आयोजन समिति सलाहकार रकम सिंह भाटी से मुलाकात के अवसर पर कही। जल संरक्षण, संवर्धन द्वारा राज्य को जल आत्मनिर्भर बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के क्रियाकलापों की जानकारी देते हुए जल शक्ति मंत्री ने कहा कि शुद्ध, निर्बाध पानी मिले इसके लिए सरकार योजनाबद्ध तरीके से काम कर रही है।
सरकारी टेल. कॉम के सीईओ अमेया साठे ने बताया कि उत्तर भारत के आधा दर्जन राज्यों को जल आत्मनिर्भर राज्य की श्रेणी में आमंत्रित किया जा रहा है ताकि उन राज्यों की सरकारों की जन-जन तक पानी पहुंचाने की वचनबद्धता को राष्ट्रीय मंच पर लाया जा सके। जल प्रहरी के संयोजक अनिल सिंह ने बताया कि आगामी जून में होने वाले कार्यक्रम में देश भर में जल संरक्षण, संवर्धन के लिए किए जा कार्यो को राष्ट्रीय स्तर पर विमर्श के लिए प्रस्तुत किया जाएगा ताकि देश भर के मॉडल , तकनीक को वैज्ञानिक आधार पर प्रोत्साहित किया जा सके व राष्ट्रीय पहचान दी जा सके।

जल प्रहरी सम्मान समारोह-2019 में भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय के संयुक्त तत्वावधान में देश के करीबन दो दर्जन राज्यों के जल संरक्षण कर्ताओं, विश्व में ख्याति प्राप्त विभूतियों को माननीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेंद्र सिंह शेखावत, श्रीमान रामलाल जी श्री मनोज तिवारी सांसद, श्री गोपाल आर्य  पर्यावरण संरक्षण गतिविधि प्रमुख की मौजूदगी में बतौर जल प्रहरी राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित किया जा चुका है।
इस वर्ष कार्यक्रम का उद्देश्य ऐसे कार्यों, प्रयोग, प्रयास एवम  योजनाओं को चिन्हित कर जन जन तक पहुँचाना है जो जल संरक्षण, संवर्धन कर  प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के  भारत को जल आत्मनिर्भर बनाने के लक्ष्य को हासिल कर सकें।