लखनऊ में आग का कहर, सिगरेट से 12 दुकाने राख तो कहीं गेहूं की फसल खाक

लखनऊ, राजधानी में आज बुधवार सुबह से चारो तरफ आग का कहर बसरने लगा। लोगों की जरा सी लापरवाही ने कई घरों की रोजी-रोटी तबाह कर दी।रायबरेली रोड पर उतरेटिया पुल के पहले फुटपाथ पर लगीं करीब एक दर्जन दुकानें जलकर राख हो गई। वहीं, काकोरी के भलिया गांव में गेहूं के खेत में शार्ट सर्किट से बिजली का तार गिर गया। जिससे करीब 10 बीघा फसल जलकर राख हो गई।  उतरेटिया पुल के पहले फुटपाथ पर लगी दुकानों से एकाएक धुंआ और आग की लपटें निकलनें लगीं। यह देख लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया।देखते-देखते दुकानों की आग विकराल हो उठी। एक के बाद एक पान, खिलौने, बुक स्टाल, बाटी चोखा समेत करीब एक दर्जन दुकानें आग की चपेट में आ गई। कुछ दुकानदार यह देखकर दौड़े और पानी फेंकने का प्रयास करने लगे पर सफलता नहीं मिली। कुछ ही देर में दमकल मौके पर पहुंची। दमकल कर्मियों ने घंटे भर की मशक्कत के बाद चार गाड़ियों की मदद से आग पर काबू पा लिया। आग की चपेट में आने से करीब एक दर्जन दुकानें जलकर राख हो गईं। इंस्पेक्टर पीजीआइ आनंद कुमार शुक्ला ने बताया कि दुकानें फुटपाथ पर लगीं थी। कुछ झोपड़ियों में थी। किसी ने सिगरेट पीने के बाद फेंक दी जिससे दुकानें जलकर राख हुई हैं। 

इनकी जली दुकानें:  

मो. जाबिर (बाटी चोखा), मार्केंडेय प्रसाद (बाटी चोखा), लल्लन गुप्ता (फल), लालू गुप्ता (बाटी चोखा), विजय गुप्ता (फल की दुकान), लाला (पान की गुमटी), कुलदीप कुमार, सुनील चौरसिया (पान और स्टेशनरी की दुकान), राम सजीवन, राम विकास (चाय की दुकान) और मोहनल लाल की दुकानें जली हैं।