अभियान चलाकर ही संचारी रोगों पर नियंत्रण सम्भव

चिकित्सा, स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ-शिशु कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद की अध्यक्षता में लाल बहादुर शास्त्री भवन (एनेक्सी) के सभागार में वर्ष 2021 के प्रथम विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के अन्तर्गत चल रही अंतर्विभागीय गतिविधियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक को सम्बोधित करते हुए अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में संचारी रोगों के नियंत्रण में विभिन्न विभागों का सहयोग आवश्यक है। उन्होंने कहा अभियान चलाकर ही संचारी रोगों पर नियंत्रण में बड़े स्तर पर सफलता प्राप्त हुई है। 

 आशाओं द्वारा घर-घर जाकर जागरूकता तथा उनके द्वारा पांच प्रकार की रिपोर्टिंग, परिवारों में शुद्ध पेयजल की उपलब्धता, मूषक प्रजाति से फैलने वाले रोगों की जागरूकता का प्रसार तथा झाड़ियों की कटाई, गांवों में स्वच्छता अभियान, स्कूली बच्चों में जागरूकता और जानकारी का प्रसार, मच्छर जनक स्थितियों को नष्ट करना, सूकर पालकों को संवेदीकृत करना तथा परिवारों को दिमागी बुखार के प्रति जागरूक करके शीघ्र उपचार के लिए संवेदीकृत किये जाने के कार्यों की समीक्षा की गयी। अपर मुख्य सचिव ने निर्धारित लक्ष्यों में पिछड़ रहे विभागों को अभियान के प्रति गम्भीर होने तथा कार्यों में तेजी लाने को कहा।
बैठक में उन्होंने नगर विकास विभाग के रिपोर्टिंग सिस्टम की सराहना करते हुए कहा अन्य विभाग भी प्रदेश स्तर पर माॅनीटरिंग कर तेजी से कार्य करने के लिए इस प्रणाली का उपयोग कर सकते हैं। बैठक में शिक्षा विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि विभाग अपने डेढ़ साल व्हाट्सएप गु्रप के माध्यम से जानकारी के प्रचार- प्रसार में संलग्न है। अमित मोहन प्रसाद ने अन्य विभागों को भी शिक्षा विभाग से सहयोग लेकर प्रचार करने के लिए कहा। उन्होंने कहा ये बहुत बड़ी संख्या है और करोड़ों परिवारों तक इसके माध्यम से पहुंचा जा सकता है इसलिए अपने छोटे- छोटे संदेश बनाकर शिक्षा विभाग के सहयोग से प्रसारित कराने का कार्य करवाया जा सकता है।
बैठक में पशुपालन विभाग से चर्चा के दौरान अपर मुख्य सचिव ने कहा कि संचारी रोग ग्रस्त पशुओं की लोकेशन से निदेशक संचारी रोग नियंत्रण विभाग को भी अवगत कराएं जिससे उस क्षेत्र में स्वास्थ्य विभाग द्वारा विशेष नियंत्रण कार्यवाहियों को बड़े स्तर पर संचालित किया जा सके।
 मिशन निदेशक रा0स्वा0मि0 अपर्णा उपाध्याय तथा महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डी0एस0 नेगी ने अंतर्विभागीय सहयोग पर विशेष सहयोग बनाये रखने तथा कार्यों को शीघ्रता से सम्पादित करने की अपील की।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य