प्रियंवदा भाजपा छोड़ रालोद में शामिल

भारतीय जनता पार्टी की किसानों और महिलाओं के प्रति संवेदनहीनता से आहत होकर राज्य महिला आयोग और भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य डॉ. प्रियंवदा तोमर ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। डॉ प्रियंवदा तोमर ने माननीय चौधरी अजित सिंह जी और जयंत चौधरी जी और पूर्व छपरौली विधायक चौधरी नरेंद्र सिंह जी की उपस्थिति में राष्ट्रीय लोकदल की सदस्यता ग्रहण की। 

इस मौके पर राष्ट्रीय लोकदल अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह जी ने कहा, "नारी शक्ति से उत्तर प्रदेश में सार्थक सामाजिक और राजनैतिक परिवर्तन आएगा। प्रियंवदा जी का परिवार देश के लिए समर्पित रहा है। उनको, उनके परिवार और उनके समर्थकों को राष्ट्रीय लोकदल में भरपूर सम्मान मिलेगा। डॉ प्रियंवदा जी को जमीनी स्तर पर कार्य करने की दृष्टि से संगठन में जल्द ही उचित ज़िम्मेदारी दी जाएगी।"

डॉ प्रियंवदा तोमर के रालोद में शामिल होने पर रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी जी ने कहा,

 "भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी और राज्य महिला आयोग की सदस्य जैसे पद पर रहते हुए किसानों के प्रति जो अमानवीय और संवेदनहीन चेहरा प्रियंवदा जी ने बीजेपी का देखा, उससे आहत होकर उन्होंने पार्टी को अलविदा कह दिया। किसानों के हितों के लिए हमेशा तैयार और अग्रणी रहने वाले राष्ट्रीय लोकदल परिवार में उनका बहुत स्वागत है।"

 वहीं, डॉ प्रियंवदा तोमर जी ने रालोद का दामन थामते हुए कहा कि, "किसानों और महिलाओं के प्रति संवेदनहीन रवैया रखने वाली भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर राष्ट्रीय लोकदल में आने पर ऐसा लग रहा जैसे अपने घर वापस लौट आयी हूं। जो स्नेह और आशीर्वाद माननीय चौधरी अजित सिंह ने रालोद परिवार के मुखिया के तौर पर दिया है, उससे मैं अभिभूत हूँ। मैं सदैव पार्टी द्वारा दिये गए कार्यों को पूरी ईमानदारी और निष्ठा से निभाऊंगी।"