01 जुलाई से 07 जुलाई, 2021 तक मनाया जाएगा फसल बीमा योजना सप्ताह

देश की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे ‘‘भारत का अमृत महोत्सव’’ को अभियान के रूप में मनाया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय, कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार करने, योजना के संबंध में कृषकों की जिज्ञासाओं का समाधान करने एवं योजना में कृषकों की सहभागिता बढ़ाने के उद्देश्य से फसल बीमा योजना सप्ताह मनाये जाने का निर्णय लिया गया है। इस क्रम में प्रदेश में फसल बीमा/प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सप्ताह मनाया जाएगा। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव कृषि ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस संबंध में प्रदेश के समस्त जिलाधिकारियों को पत्र जारी कर दिया है।

13 जनवरी, 2022 को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की क्रियान्वयन तिथि के रूप में मनाया जायेगा। योजनान्तर्गत कृषकों की भागीदारी में तेजी लाने के उद्देश्य से खरीफ मौसम में जुलाई के प्रथम सप्ताह एवं रबी मौसम में दिसम्बर के प्रथम सप्ताह को प्रधानमंत्री फसल बीमा सप्ताह के रूप में मनाया जायेगा। बीमा कम्पनी, बैंक व जनसुविधा केन्द्रों के सहयोग से प्रदेश के चयनित 75 जनपदों के 75 विकास खण्डों में जहां पर बीमित कृषकों की संख्या कम है, विशेषकर आकांक्षी व जनजातीय बाहुल्य जनपदों के ब्लाकों का चयन करते हुए गहन अभियान चलाकर कृषकों की सहभागिता बढ़ायी जायेगी। इस अभियान के 75 सप्ताह में 75 किसानों की सफलता की कहानी, प्रति सप्ताह प्रति कृषक की दर से सभी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपलोड किया जायेगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत कृषकों की कम भागीदारी वाले देश के 75 जनपदों के 75 विकास खण्ड का चयन करते हुए वहां पर गहन प्रचार-प्रसार कर कृषकों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सप्ताह मनाने का निर्णय लिया गया है। भारत सरकार द्वारा चयनित जनपदों में प्रदेश के महत्वाकांक्षी जनपदों में बहराइच (रकाबगंज), श्रावस्ती (सिरसिया), बलरामपुर (उतरौला), सिद्धार्थनगर (लोटन), फतेहपुर (हथगांव), चित्रकूट (रामनगर), सोनभद्र (बमनी), चन्दौली (नियमताबाद) तथा प्रदेश सरकार द्वारा चयनित जनपदों में ब्लाक वाराणसी (सेवापुरी), गोरखपुर (कैम्पियरगंज), देवरिया (पथरदेव) ब्लाक का चयन किया गया है। चयनित जनपदों के प्रचार वाहन को हरी झण्डी दिखाने का कार्य मा0 कृषि मंत्री जी द्वारा दिनांक 07 जुलाई, 2021 को प्रातः 10ः00 बजे किया जायेगा। इसके पश्चात प्रचार वाहन अपने-अपने जनपदों को रवाना होंगे। संबंधित जनपद के जिलाधिकारी द्वारा दिनांक 02 जुलाई, 2021 को प्रातः 10ः00 बजे इस प्रचार वाहन को हरी झण्डी दिखाते हुए जनपद के ब्लाकों/न्याय प्रचायतों/ग्राम पंचायतों में निर्धारित रूट के अनुसार प्रचार-प्रसार के कार्य हेतु रवाना किया जायेगा। अन्य जनपदों के प्रचार-प्रसार वाहन को संबंधित जनपद के जिलाधिकारी द्वारा 01 जुलाई 2021 को प्रातः 11ः00 बजे हरी झण्डी दिखाकर जनपद में प्रचार-प्रसार हेतु रवाना किया जायेगा।
जनपद मुख्यालय पर आयोजित बैठक/कैम्प में जनपद के 05 सर्वाधिक क्षतिपूर्ति पाने वाले बीमित कृषक, सर्वाधिक बीमा करने वाले बैंक शाखा के प्रबन्धक, सर्वाधिक बीमा करने वाले जनसुविधा केन्द्रों के प्रतिनिधि एवं योजना के क्रियान्वयन में सराहनीय योगदान करने वाले कृषि विभाग/उद्यान विभाग के कर्मचारी को प्रशस्ति पत्र पदान किया जायेगा। प्रश्नगत कार्मिकों का चयन जनपद के उप कृषि निदेशक/जिला उद्यान अधिकारी द्वारा संबंधित बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि के सहयोग से किया जायेगा। प्रचार-प्रसार मुख्यतयः कृषकेां को योजना की विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराने, योजना के प्रति उत्पन्न जिज्ञासाओं के निराकरण करने एवं योजना में बैंकों व जन सुविधा केन्द्रों के माध्यम से अधिक से अधिक भागीदारी के लिए प्रेरित करने पर केन्द्रित होगा। अभियान अवधि में बैंक शाखाओं एवं जनसुविधा केन्द्र के अधिकारियों द्वारा कृषकों के पंजीकरण हेतु पर्याप्त व्यवस्था की जायेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान

सरकार ने जारी किया रबी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य