सावन मेलें की परमीशन नही , स्टैन्ड का उठा ठेका

 लखनऊ - प्राचीन बुद्धेश्वर मंदिर में सावन मेला की परमीशन नही , लेकिन स्टैन्ड के लिए उठा दिया गया ठेका.

मंदिर बंद फिर भी छुट भइया नेताओं के दखल के बाद उठाया गया 55 हजार का ठेका, ठेकेदार नगर निगम वेडिंग जोन में रजिस्टर्ड पटरी दुकानदारो से मांगने लगा रंगदारी, वाहन स्टैन्ड का ठेकेदार सब्जी ठेला वाले से 200 रुपए और गुमटी वालो से 500 रुपए की कर रहा मांग , रूपये न देने पर दुकानदारों को नगर निगम द्वारा हटवाने की दी जा रही धमकी।
बड़ा सवाल - जब सावन मेला की परमीशन नही तो स्टैन्ड का ठेका उठाने का क्या लाभ , सावन मेला लगते ही बुद्धेश्वर में नगर निगम के साथ कुछ तथाकथित लोगो की हो जाती है चांदी, जमकर करते है वसूली ,पाबंदी के बाद बुद्धेश्वर मंदिर परिसर व आस- पास सज गई दुकाने, मंदिर परिसर के आस-  पास लगी दुकाने, कुछ लोगो के है खासमखास।
कोरोनी की तीसरी लहर के चलते जहां स्कूलो पर पांबंदी, वही साप्ताहित लॉकडाउन चल रहा है, वही व्यक्तिगत स्वार्थ के लिए नगर निगम, पुलिस विभाग और कुछ तथाकथित लोग कोविड़ संक्रमण को बढ़ावा देने के लिए निजी स्वार्थवश कोविड़ - गाइड़ लाइन की उड़ा रहे धज्जिया।