चीन सागर में टाइफून से भारत में प्रभावित हो सकता मानसून

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञान का पूर्वानुमान है कि एक टाइफून जिसको चक्रवर्ती हवाओं का तूफान कह सकते हैं वह दक्षिणी चाइना सागर में दिखाई दे रहा इसका असर भारत पर भी पड़ने की पूरी संभावना है जिसकी वजह से दक्षिण पश्चिम मानसून की नाम एवं आद्रे हवाएं जो उत्तर भारत की तरफ स्थित हिमालय पर्वतों की श्रंखला की तरफ चलने चाहिए वह थोड़ी सी टायफून की तरफ आकर्षित हो रही हैं जो दक्षिणी पश्चिमी भारतीय मानसून को इस समय पूरे देश में मानसूनी बारिश की गतिविधियां पूरे देश में चल रही हैं उनको थोड़ा सा प्रभावित कर सकती हैं संभावना लग रही है कि जब यह टाएफूँ और चीन आगे निकल जाएगा और इसकी शक्ति थोड़ी कमजोर हो जाएगी तो दक्षिण पश्चिमी मानसून फिर अपनी रफ्तार से जोनम हवाएं अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से आ रही थी वह फिर से दोबारा उसी रफ्तार से और सही दिशा में चलने लगेगी। 

टायफून तूफान इंफा का अस्थाई रूप से अगले 48 घंटे तक पूरे उत्तर भारत पर प्रभाव रहेगा इसका प्रभाव उत्तर भारत की मानसून की बारिश की गतिविधियों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।