चंबल के तेज बहाव में बह गया पैंटून पुल।

बल के तेज बहाव में बह गया पैंटून पुल। पैटून पुल बहने से ठेकेदार व कर्मचारियों में मचा हड़कंप। स्टीमर से पीछा कर पैंटून पुल पर रह रहे कर्मचारियों को निकाला गया सुरक्षित। स्टीमर से पीछा कर एक किलो मीटर दूर पिनाहट घाट पर पकड़ा पैटून पुल। रस्सो की सहायता से पकड़ा गया तेज बहाव में बह रहा स्टीमर। पूर्व में भी चंबल नदी में आई बाढ़ के चलते बह गया था पैटून पुल। बरसात के चार माह के लिए पिनाहट घाट से हटा दिया जाता है पैटून पुल।पैंटून पुल के रख रखाव के लिए होता है लाखों रुपए का ठेका। सबसे बड़ा सवाल पूर्व में हुई घटना के बाद कर्मचारियो ने क्यो नहीं लिया सबक। तेज बहाव में बहकर डूब जाता पैटून पुल तो कौन होता जिम्मेदार। मामला थाना पिनाहट क्षेत्र के पिनाहट चंबल घाट का है।