तालाब को छठ पूजा स्थल के रूप में विकसित करने के लिए 48.92 लाख रूपये की राशि मंजूर

प्रदेश की महिला कल्याण एवं बाल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाती सिंह ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने राज्य के विकास में एवं जनता की सुख-सुविधाओं में कोई कमी नहीं छोड़ी है विगत साढ़े चार सालों में प्रत्येक विधान सभा का चौमुखी विकास हुआ है। सरकार की प्राथमिकता के तहत विकास कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता एवं पारदर्शिता के साथ भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत कराया गया। उन्होंने कहा कि सरोजनी नगर विधान सभा क्षेत्र में विगत वर्षों में कराये गये विकास कार्यों से जनता बहुत खुश है और प्रदेश की योगी सरकार पर आम जनता का विश्वास बढ़ा है।

महिला कल्याण एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्वाती सिंह आज अपने विधान सभा क्षेत्र सरोजनी नगर स्थित विकास खण्ड कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में यह बातें कहीं। उन्होंने प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि सरोजनी नगर विधान सभा क्षेत्र में विगत साढ़े चार वर्षों में कुल 06 करोड़ 93 लाख 13 हजार रूपये की लागत का विकास कार्य कराया गया, जिसमें 08 पार्कों के निर्माण व सौन्दर्यीकरण में 73.42 लाख रूपये, तालाबों के सौन्दर्यीकरण में 29.55 लाख रूपये, 42 सड़कों के निर्माण में 03 करोड़ 53 लाख 99 हजार रूपये खर्च किये गये हैं। इसी प्रकार 04 विद्यालयों के उच्चीकरण में 44.93 लाख रूपये, कोविड हेतु 15 लाख रूपये तथा 03 व्यक्तियों के उपचार हेतु 4.62 लाख रूपये खर्च किये गये। इसी प्रकार विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत सांसद निधि से कराये गये कार्यों में 20 सड़कों के निर्माण कार्य में 01 करोड़ 64 लाख 22 हजार रूपये की धनराशि खर्च की गयी।
महिला कल्याण मंत्री ने बताया कि इसी प्रकार लघु सिंचाई विभाग द्वारा क्षेत्र में कुल 06 चेकडैम बनाये गये जिसमें 02 करोड़ 06 लाख रूपये खर्च किये गये। इससे क्षेत्र में 120 हे0 अतिरिक्त भूमि की सिंचाई क्षमता का सृजन हुआ। 12 ग्राम पंचायतों में नये तालाबों का निर्माण कराया गया जिसमें 66 लाख रूपये से अधिक की धनराशि खर्च की गयी। नहरों में जमा सिल्ट की सफाई में 62.64 लाख रूपये तथा ड्रेन सफाई में 45.40 लाख रूपये खर्च किये गये। इसी प्रकार क्षेत्र में नगरीय अल्पविकसित व मलिन बस्ती विकास योजना के तहत डूडा द्वारा 20.40 करोड़ रूपये से अधिक के विकास कार्य कराये गये हैं।
श्रीमती स्वाती सिंह ने बताया कि राज्य वित्तीय अनुदान योजना के तहत नगर पंचायत बंथरा में स्ट्रीट लाइट, सोलर लाइट, वाटर ट्रेकर, सफाई उपकरण, डस्टबिन क्रय, गौशाला निर्माण व भूसा-चारा आपूर्ति में 2.66 करोड़ रूपये से अधिक की धनराशि खर्च की गयी। इसी प्रकार 15वां वित्तीय आयोग के माध्यम से प्राप्त अनुदान के तहत 2.74 करोड़ रूपये से अधिक की धनराशि व्यय की गयी है। इसी तरह 15वां वित्त आयोग के माध्यम से क्षेत्र में 558 स्ट्रीट लाइटें लगायी गयी। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए 62.86 करोड़ रूपये की लागत से 33 के0बी0 का विद्युत उपकेन्द्र बिजनौर में स्थापित किया गया, जिससे क्षेत्र में लगभग 3.5 लाख आबादी लाभान्वित हो रही है। इसी प्रकार क्षेत्र में 1.21 करोड़ रूपये की लागत से 12 उच्च क्षमता के ट्रांसफार्मर लगाये गये। सौभाग्य योजना के तहत क्षेत्र में 7231 लोगों को विद्युत कनेक्शन दिये गये।
बाल विकास मंत्री ने बताया कि सरोजनी नगर विधान सभा क्षेत्र के नगरीय क्षेत्रों में आधारभूत नगरीय सुविधाओं का विस्तार करने में सड़क निर्माण में 42.93 करोड़ रूपये, नाला निर्माण में 7.46 करोड़ रूपये, नालियों के निर्माण में 25.88 करोड़ रूपये, पार्क सौन्दर्यीकरण में 10.05 करोड़ रूपये खर्च किये गये। इसी प्रकार क्षेत्र के ग्राम पंचायतों में स्वच्छ भारत मिशन के तहत 33,838 परिवारों को शौचालय, 47 दिव्यांग लोगों को शौचालय तथा 43 सामुदायिक शौचालयों का निर्माण किया गया। 11 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण कराया जाना प्रस्तावित है। ग्राम पंचायतों में कराये गये विकास कार्यों में खड़ंजा/इन्टरलाकिंग, नाली निर्माण, भवन निर्माण एवं तालाबों के जीर्णोद्धार में 03 करोड़ रूपये से अधिक धनराशि खर्च की गयी।
श्रीमती स्वाती सिंह ने बताया कि सरोजनी नगर विधान सभा क्षेत्र में उ0प्र0 पुलिस हेतु पिपरसण्ड में 220 करोड़ रूपये की लागत से फोरेन्सिक लैब का निर्माण कराया जा रहा है। इसी प्रकार कानपुर रोड स्थित तालाब को छठ पूजा स्थल के रूप में विकसित करने के लिए 48.92 लाख रूपये की राशि मंजूर की गयी। वहीं पर्यटन विकास हेतु मोहन रोड स्थित घुरघुरी तालाब के लिए 1.97 करोड़ रूपये से अधिक की धनराशि स्वीकृत की गयी है। इसी क्षेत्र में डिफेंस कॉरीडोर का भी निर्माण भी कार्य कराया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि सी0एस0आर0 फण्ड से कराये गये कार्यों में 15 चौराहों पर हाई मास्क लाईट 30 लाख रूपये की लागत से लगायी गयी। टाटा ट्रस्ट के सहयोग से स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के लिए सूती कपड़ों से निर्मित सैनेटरी पैड निर्माण की यूनिट लगायी गयी।
बाल विकास मंत्री ने बताया कि क्षेत्र के किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अन्तर्गत 29,202 किसानों को 46.18 करोड़ रूपये की सम्मान निधि प्रदान की गयी। मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से 296 रोगियों की सहायता में 5.5 करोड़ रूपये की धनराशि प्रदान की गयी। निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत गत वित्तीय वर्ष में 7952 लाभार्थियों को 4.77 करोड़ रूपये से अधिक की पेंशन राशि प्रदान की गयी। इसी प्रकार मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत 3573 लाभार्थियों को 67.92 लाख रूपये प्रदान किये गये। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत वर्तमान वित्तीय वर्ष में अब तक 124 लाभार्थियों को 14.24 लाख रूपये की धनराशि प्रदान की गयी। इसी प्रकार वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत क्षेत्र में अब तक 33,232 लाभार्थियों को लगभग 5.49 करोड़ रूपये की धनराशि प्रदान की गयी है।