कृषि मशीनीकरण द्वारा खेतों में फसल अवशेष प्रबंधन

 
उत्तर प्रदेश के कृषि, कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री,  के निर्देशों के क्रम में हरदोई रोड स्थित राज्य कृषि प्रबन्ध संस्थान रहमानखेड़ा लखनऊ  द्वारा ‘‘प्रमोशन ऑफ एग्रीकल्चरल मैकेनाईजेशन फॉर इन-सीटू मैनेजमेन्ट ऑफ क्रॉप रेज्ड्यू योजनान्तर्गत’’ किसानों के लिए 05 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

उप कृषि निदेशक एवं सह-प्राध्यापक (प्रशिक्षण),  ने यह जानकारी देते हुये बताया कि 35-35 प्रतिभागियों के 05 बैच बनाते हुये गत् 31 अगस्त से ‘‘कृषि मशीनीकरण द्वारा खेतों में फसल अवशेष प्रबंधन’’ विषयक प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में  उन्नाव, बहराइच, बलरामपुर, गोण्डा एवं श्रावस्ती के किसानों द्वारा प्रतिभाग किया जा रहा है।
प्रशिक्षण कार्यक्रम के पहले दिन उपस्थित प्रतिभागियों को योजना के विस्तृत उद्देश्य एवं पाठ्यक्रम की विषयवस्तु तथा योजना से होने वाले आर्थिक लाभ के बारे में विस्तार से बताया गया। इस योजना का मुख्य उद्देश्य फसल अवशेष का प्रबंधन किया जाना है, ताकि किसानों की आमदनी दोगुनी हो सके।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान