न्यूनतम समर्थन मूल्य का स्वागत-कृषि मंत्री

उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री, श्री सूर्य प्रताप शाही ने रबी विपणन सत्र 2022-23 के लिए भारत सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य का स्वागत किया। रबी 2022-23 की बुआई से पूर्व ही उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किये जाने के लिए प्रदेश के किसानों की ओर से आदरणीय प्रधानमंत्री जी को बधाई दी। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में प्रत्येक वर्ष न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि की जा रही है और किसानों को लागत पर मुनाफा कैसे प्राप्त हो, यह सुनिश्चित किया जा रहा है।

      श्री शाही ने कहा कि जो लोग एमएसपी समाप्त करने की बात कह कर किसानों को गुमराह कर रहे थे, उनसे सावधान रहने की जरूरत है। एमएसपी बढ़ाये जाने के निर्णय से साबित हो गया है कि एमएसपी पर खरीद हो रही है और भविष्य में भी लागू रहेगी। किसानों को आश्वस्त कर दिया गया है कि एमएसपी को समाप्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि विगत वर्षों में भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर रिकार्ड खाद्यान्न खरीद की गयी है।
     कृषि मंत्री ने बताया कि भारत सरकार द्वारा गेहूँ की एमएसपी रूपये 1975 में 40 रूपये की वृद्धि करते हुये 2015 रूपये, जौ की एमएसपी 1600 रूपये से  बढ़ाकर 1635 रूपये तथा चना की एमएसपी 5100 रूपये से बढ़ाकर 5230 रूपये निर्धारित की गयी है। इसी प्रकार मसूर की एमएसपी 5100 रूपये से बढ़ाकर 5500 रूपये एवं सरसों की एमएसपी 4650 रूपये से बढ़ाकर 5050 रूपये और सूरजमुखी की एमएसपी 5327 रूपये से बढ़ाकर 5441 रूपये कर दी गयी है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मिर्च की फसल में पत्ती मरोड़ रोग व निदान